Subscribe to my Youtube Channel Click Here Subscribe Also !

Maicro artist ramagiri swarika | रामगिरी स्वारिका

हैदराबाद कि छात्रा ने किया कमाल, चावल के दानों पर लिख डाली पुरी भागवत गीता Maicro artist ramagiri swarika,रामगिरी स्वारिका हैदराबाद की रहने वाली है
Santosh Kukreti

 हैदराबाद कि छात्रा ने किया कमाल, चावल के दानों पर  लिख डाली पुरी भागवत गीता Maicro artist ramagiri swarika

हैदराबाद:हैदराबाद  के एक low student ने 4042 चावल के दानों पर पूरी भागवत गीता ही लिख डाली ,जी हाँ ये बिल्कुल ही सच है और ये करिश्मा  कर के दिखाया है एक लौ स्टूडेंट जिनका नाम है "Ramgiri Swarika"

artist micro drawings,micro artist swarika

 रामगिरी स्वारिका हैदराबाद की रहने वाली है और ये एक माइक्रो -आर्टिस्ट है ,यहाँ आपको बता दें की   स्वारिका  को पूरी भागवत गीता को लिखने में  पुरे 150 घंटे से ज्यादा का समय लिया और उनकी इसी लगन ने उन्हें "Wonder Book of Records "और "India Book of Records" मै  भी जगह मिली है

 यहाँ आपको ये बता दे की चावल के दानों पर लिखना कोई मामूली काम नहीं है इस तरह की कला के लिए कर्मठ -प्रयास और पूर्ण  रूप से फोकस की  जरूरत होती है 

micro artist wikipedia,micro artist

कौन  है रामगिरी स्वारिका: Maicro artist ramagiri swarika एक low student  के  साथ -साथ जानी मानी माइक्रो -आर्टिस्ट  है और जो हैदराबाद की रहने वाली है स्वारिका अब तक २००० से भी ज्यादा माइक्रो आर्ट लिख भी चुकी है 

स्वरिका को राष्ट्रीय पुरूस्कार से भी नवाजा जा चूका है ,इससे पहले स्वरिका ने बालों पर संविधान की प्रस्थावाना भी लिखी है उन्हें तेलंगाना सरकार के द्वारा भी सम्मानित भी किया जा चूका है !

राष्ट्रीय स्तर पर मशहूर होने के बाद अब स्वरिका अंतरास्ट्रीय मंच पर उनका और पुरे देश का नाम रौशन  करना चाहती है सोशल मीडिया पर भी स्वरिका खूब चर्चित हुई और लोग  आश्चर्य चकित भी हैउनकी इस कला से 

Maicro artist ramagiri swarika | रामगिरी स्वारिका

स्वरिका ने बताया की उन्हें बचपन से ही कला और संगीत मैं रूचि रहने के कारण मै ये सब कर पाई ,स्वरिका को बचपन से ही कही पुरुस्कार मिले और स्वरिका कहती है की की मैंने पिछले चार वर्ष पहले चावल के दानों पर भगवान् गणेश  के चित्र के साथ माइक्रो आर्ट की शुरुवात की थी । वर्ष 2011 में  उन्हें सांस्कृति अकादमी (Academy of Culture) से पुरस्क़ृत किया गया  

और देश के पहले माइक्रो आर्टिस्ट का सम्मान मिला आगे स्वरिका कहती है की वे आगे चलकर वुमन पावरमेन्ट  कार्य करेगी ,और मई लौ स्टूडेंट हु तो मै भविष्य मै जज बनना चाहूंगी और वुमन को जस्टिस देने का कार्य करेंगी !



Getting Info...

एक टिप्पणी भेजें

Cookie Consent
We serve cookies on this site to analyze traffic, remember your preferences, and optimize your experience.
Oops!
It seems there is something wrong with your internet connection. Please connect to the internet and start browsing again.
AdBlock Detected!
We have detected that you are using adblocking plugin in your browser.
The revenue we earn by the advertisements is used to manage this website, we request you to whitelist our website in your adblocking plugin.
Site is Blocked
Sorry! This site is not available in your country.