क्या सकारात्मक कल्पनाएं ऊर्जा प्रदान करती हैं?

positive thinking in hindi: ऊर्जा कल्पना मनुष्य प्रतिदिन न जाने कितनी कल्पनाएं करता है । सकारात्मक कल्पनाएं उसे ऊर्जा प्रदान करती हैं , जिससे उसके कार

Positive Thinking in Hindi: मनुष्य प्रतिदिन न जाने कितनी कल्पनाएं करता है। सकारात्मक कल्पनाएं उसे ऊर्जा प्रदान करती हैं, जिससे उसके कार्य करने की गति बढ़ जाती है। एक नौकरीपेशा व्यक्ति अपनी प्रोन्नति की कल्पना कर पूरी ऊर्जा के साथ कार्य करता है। तो आइये जानते हैं क्या सकारात्मक कल्पनाएं ऊर्जा प्रदान करती हैं? Positive thinking in Hindi-

Positive thinking,  positive thinking examples, benefits of positive thinking

इसी तरह किसान इसी कल्पना के साथ पूरे परिश्रम के साथ खेती करता है कि जल्द ही उसकी फसल लहलहाएगी। यदि वह यह कल्पना करने लगे कि फसल बोने के बाद बारिश नहीं होगी या फिर फसल ओलावृष्टि की चपेट में आ जाएगी तो वह कुछ भी नहीं कर पाएगा, लेकिन वह सकारात्मक कल्पना के साथ आगे बढ़ता है  

हमें भी जीवन में सकारात्मक कल्पना के साथ आगे बढ़ते जाना चाहिए। इसी के बल पर हम जीवन में सफलता प्राप्त कर सकते हैं। हम स्वयं को अच्छी कल्पनाओं के साथ बेहतर कर सकते हैं। इससे जीवन की ऊर्जा बनी रहती है। 

Read More: 

जिंदगी में संतुलन से खुशी का राज बता रहे हैं अभिनेता रॉबर्ट डाउनी जूनियर

वो चार सलाह जो आगे बढ़ने से रोकेंगी उन्हें जान लीजिए

positive thinking in hindi,positive thinking,why positive thinking is important

हमारी कार्य करने की क्षमता बढ़ती जाती है। इसके उलट नकारात्मक कल्पना कितनी भयावह हो सकती है, इसे हम एक प्रसंग से समझ सकते हैं। एक बार एक बुजुर्ग रात्रि का भोजन कर आराम करने लगते हैं। वह अपने दांतों का सेट निकाल कर रख देते हैं और सो जाते हैं। उसी समय वहां उनका पोता आता है और वह दांतों के उस सेट को उठाकर ले जाता है। सुबह जब वह बुजुर्ग उस सेट को नहीं पाते तो घबरा जाते हैं। वह कल्पना करने लगते हैं कि कहीं उन्होंने उस सेट को निगल तो नहीं लिया। 

ऐसा सोचते ही उनके पेट में दर्द हो उठता है। वह बिस्तर में लेट जाते हैं। डॉक्टर को बुलाया जाता है। वह ऑपरेशन की बात कहता है, लेकिन उसी समय पोता दांतों का सेट लेकर आ जाता है। यह देखते ही बुजुर्ग के पेट का दर्द गायब हो जाता है। 

वह मुस्कुराने लगते हैं। एक बुरी कल्पना ने कैसे भयावह स्थिति पैदा कर दी। ठीक ऐसी ही परिस्थितियां हम भी जीवन में पैदा कर देते हैं। ऐसे में हमें अपनी कल्पनाओं को सकारात्मक एवं नियंत्रित रखना चाहिए। तभी जीवन की गाड़ी को सकारात्मक दिशा में आगे बढ़ा पाएंगे।

 Also Read: 

Power of Positivity:विचारों पर नियंत्रण ही हमारे चरित्र को स्वरूप देता है

सही एटिट्यूड ही आपकी ताकत है

Thanks for visiting Khabar daily update. For more पॉजिटिवथिंकिंगclick here.


Rate this article

एक टिप्पणी भेजें