Type Here to Get Search Results !

शांति के सूत्र | चिंताजनक हालातों से बाहर निकलना आसान है


formulas of peace , hope inspiration,inspirational thoughts

Formula of Peace: अगर आप चिंता में डूबे रहेंगे , तो किसी भी काम में एकाग्रता हासिल नहीं कर पाएंगे । और एकाग्रता भंग होगी तो अंततः आपके जीवन में खुशी का अभाव रहेगा और तनाव व अवसाद बढ़ता जाएगा । सवाल है कि स्वेट मॉर्डन चिंता दूर करने के लिए क्या किया जाए ? 

इसे दूर करने की तीन अवस्थाएं हैं । पहला तो हर परिस्थिति का निर्भयता और ईमानदारी से विश्लेषण करना चाहिए और इस निर्णय पर पहुंचना चाहिए कि असफलता के कारण क्या अधिकतम अनिष्ट हो सकता है । 

ये भी देखें - चिंता मुक्त होने के लिए विचारों की बजाय तथ्यों पर गौर करें | शांति के सूत्र

दूसरा चरण है कि बुरे से बुरे का आकलन करने के बाद आप उसे आवश्यकतानुसार स्वीकार करने का दृष्टिकोण अपना सकते हैं । इसके फलस्वरूप एक अत्यंत महत्वपूर्ण

परिवर्तन होगा और तुरंत ही हल्कापन और एक तरह की शांति का अहसास होगा । और तीसरी अवस्था में आप शांत भाव से उस संभावित अनिष्ट का हल निकालने में जुट जाएंगे । इन मनोवैज्ञानिक विधियों का विश्लेषण करके आपको चिंता से निकलने का रास्ता मिलेगा । 

चिंता करने से सबसे ज्यादा निर्णय लेने की क्षमता प्रभावित होती है । व्यावहारिक मनोविज्ञान के जन्मदाता प्रो . विलियम्स जेम्स का कथन था कि अपनी स्थिति को जैसी है वैसी ही स्वेच्छा से स्वीकार कर लो । स्वीकार करना दुर्भाग्य के किसी परिणाम पर विजय पाने का पहला कदम है । 

ये भी देखें- power of positivity | खुशी चाहते हैं तो काम में एकाग्रता की कोशिश करें

चीनी दार्शनिक लिन युटांग ने कहा था कि स्वीकार करने से मन को एक असीम शांति मिलती है । स्वीकारने के बाद खोने को कुछ नहीं रह जाता । इसके बाद निर्णय लेने की क्षमता भी बेहतर हो जाती है । ' चिंता मुक्त कैसे हों किताब से साभार

उम्मीद प्रेरणा (hope inspiration)

एक बुद्धिमान व्यक्ति को पैसा दिमाग में रखना चाहिए , दिल में हर्गिज नहीं । 

ये उम्मीद करनी चाहिए कि आप अपनी जिंदगी के सारे दिन पूरी तरह जी पाएं । 

आज कापॉजिटिव चैलेंज 

सोने से 2 घंटे पहले गैजेट बंद कर दें 

शोध बताते हैं कि मोबाइल , टीवी जैसे इलेक्ट्रॉनिक गैजेट का सोने से पहले इस्तेमाल नजर , नींद और मानसिक स्वास्थ्य को प्रभावित करता है । इनसे निकलने वाली नीली रोशनी नजर कमजोर करती है , वहीं नींद पर असर से दिमाग को पूरा आराम नहीं मिल पाता , जिससे मानसिक स्वास्थ बिगड़ता है ।

Thanks for Visiting Khabar Daily Update for More Motivational Thoughts Click Here .

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.

Top Post Ad

Below Post Ad

Hollywood Movies