किसी के जीवन में सार्थक प्रभाव डालना चाहते हैं, तो करीब जाएं

जीवन में सार्थक प्रभाव: हर व्यक्ति दूसरों पर प्रभाव डालता है । इस बात से कोई फर्क नहीं पड़ता कि आप कौन हैं या क्या करते हैं । प्रभाव डालने वाला

The Power of Positive Thinking: हर व्यक्ति दूसरों पर प्रभाव डालता है। इस बात से कोई फर्क नहीं पड़ता कि आप कौन हैं या क्या करते हैं। प्रभाव डालने वाला व्यक्ति बनने के लिए आपको किसी बड़े या महत्वपूर्ण काम में लगे होने की जरूरत नहीं है। वास्तव में, अगर आपकी जिंदगी किसी भी तरह से अन्य लोगों से जुड़ी है तो आप प्रभाव डालने वाले व्यक्ति हैं। 

जीवन की सार्थकता के विषय में अपने विचार लिखिए ,जीवन की सार्थकता  ,make a meaningful impact in someone's life in hindi

अपने घर, पूजा स्थल, काम में या खेल के मैदान में आप जो कुछ भी करते हैं, वह बाकी लोगों की जिंदगी पर असर डालता है। लोगों को जो सबसे पहले दिखाई देता है, वे उससे प्रभावित होते हैं। आपने देखा होगा कि बच्चे अपनी स्वाभाविक प्रवृत्ति के अनुसार आपकी गतिविधियों की नकल करते हैं। 

Read More: 

दलाई लामा: अकेलेपन से बचने के लिए करुणा रखिए

चिंता मुक्त होने के लिए विचारों की बजाय तथ्यों पर गौर करें 

अधिकतर लोगों के साथ यही होता है, अगर वे आपको सकारात्मक और विश्वसनीय मानते हैं तो वे अपनी जिंदगी में आपके प्रभाव को चाहते हैं। जितना अधिक वे आपको जानेंगे, उतनी ही अधिक आपकी विश्वसनीयता होगी और उतना ही ज्यादा आपका प्रभाव भी पड़ेगा। अगर आप किसी के जीवन पर वास्तव में सार्थक प्रभाव डालना चाहते हैं, तो आपको बहुत नजदीक जाकर ऐसा करना होगा। 

इससे आप प्रभाव के दूसरे स्तर यानी प्रेरणा देने पर पहुंच जाते हैं। जब आप लोगों को प्रोत्साहन देते हैं और उनके साथ भावनात्मक स्तर पर संवाद करते हैं, तो आप प्रेरक प्रभावशाली व्यक्ति बन जाते हैं। यह आपके और उनके बीच एक पुल बनाती है और इससे लोगों का आत्मविश्वास व आत्मसम्मान बढ़ता है। जब आप अपना एक हिस्सा किसी को देते हैं और उनकी जिंदगी की रुकावटें दूर करने में मदद करते हैं। 

आप उन्हें दिखाते हैं कि निजी और पेशेवर जीवन में कैसे बढ़ना है। जीवन का एक नया स्तर पाने में उनकी मदद करते हैं। आप वास्तव में उनके जीवन में बदलाव ला सकते हैं। आज आप नहीं जानते कि अन्य लोगों पर आपका कैसा असर पड़ेगा। आपके क्रियाकलाप हजारों लोगों की जिंदगी पर असर डाल सकते हैं। 

यह भी संभव है कि आप अपने दो या तीन सहकर्मियों और परिवार के सदस्यों पर प्रभाव डालें। ध्यान रखने योग्य महत्वपूर्ण बात यह है कि आपके प्रभाव का स्तर स्थिर नहीं है। यदि अतीत में किसी पर आपका प्रभाव नकारात्मक रहा है, तो उसे आप पूरी तरह बदलकर सकारात्मक असर में बदल सकते हैं। प्रभाव का स्तर अब तक बहुत ही कम रहा है, तो उसे बढ़ाकर प्रभावकारी व्यक्ति बन सकते हैं।- 'हाउ टू इंफ्लुएंस पीपुल किताब' से साभार

Read More: 

लक्ष्य तय करके आप अपना आत्मविश्वास बढ़ा सकते हैं

Thanks for Visiting Khabar Daily Update for More Motivational Thoughts Click Here .

Rate this article

एक टिप्पणी भेजें