Subscribe to my Youtube Channel Click Here Subscribe Also !

जीत आपकी 100 बेस्ट अनमोल वचन | You Can Win best Motivational Thoughts in Hindi

आज इस पोस्ट में जीत आपकी बेस्ट सेलिंग बुक्स से बेस्ट अनमोल वचन साथ में best Motivational Thoughtsलेकर आये है। Shiv Kheda द्वारा लिखित You Can win
Santosh Kukreti

जीत आपकी 'You Can Win' Motivational Speaker शिव खेड़ा द्वारा लिखित कामयाबी की और ले जाने वाली सीढ़ी और एक International Bestseller Book है। अगर आप मुझसे एक बेस्ट मोटिवेशन किताब के बारे में पुछेंगे तो में आपको Shiv Kheda की You Can Win को पढ़ने के लिए कहूंगा।
You Can Win  International Bestseller Book  motivational thoughts

इस बुक्स का स्लोगन है " जितने वाले कोई अलग काम नहीं करते ,वे हर काम को अलग ढंग से करते है।"  शिव खेड़ा एक 'क्वालिफाइड लर्निग सिस्टम इको यू.एसए' के संस्थापक,एक लेखक ,बिजनेस सलाहकार ,प्रेरक प्रवक्ता ,और एक सफल उद्यमी है।

आज इस प्सित में हम जीत आपकी किताब में से 100 बेस्ट मोटिवेशनल थॉट्स लेकर आये है ,जो आपकी कामयाबी के रास्ते में मददगार साबित हो सकते हैं- जीत आपकी 100 बेस्ट अनमोल वचन | You Can Win best Inspirational Motivational Quotes in Hindi:-

जीत आपकी 100 बेस्ट अनमोल वचन | You Can Win best Motivational thoughts in Hindi

जीतने वाले कोई अलग काम नहीं करते, वह हर काम अलग ढंग से करते हैं।

सफलता का मतलब सिर्फ असफल होना नहीं, बल्कि सफलता का सही अर्थ है अपने असली मकसद को पाना। इसका मतलब है पूरा युद्ध जीतना  ना कि छोटी मोटी लड़ाइयां जीतना।- एडमिन सी. ब्लिस

आप क्या हासिल करना चाहते हैं? किस तरह से उसे हासिल करना चाहते हैं? कब तक हासिल करने की योजना प्लान है?

हमारा क्षेत्र चाहे जो हो, कामयाबी की बुनियाद तो नजरिया ही है ।

जब हमारा नजरिया सही होता है तो हमें महसूस होता है कि हम हीरो से भरी हुई जमीन पर चल रहे हैं। मौके हमेशा हमारे पांव तले दबे हुए हैं। हमें उनकी तलाश में कहीं जाने की जरूरत नहीं है। हमें केवल उनको पहचान लेना है।

जिसे उड़ना सीखना हो, उसे पहले खड़ा होना, चलना ,और दौड़ना आना चाहिए 

हम दूसरों के पास मौजूद चीजों को देखकर ललचा ते रहते हैं। इसी तरह दूसरे हमारे पास मौजूद चीजों को देखकर जल जाते हैं। हमसे अपनी जगह की अदला-बदली करने का मौका हासिल करके उन्हें खुशी होगी

जिन्हें मौके की पहचान नहीं होती उन्हें मौके का खटखटाना शोर लगता है।

मौका जब आता है तो लोग उसकी अहमियत नहीं समझ पाते जब मौका जाने लगता है तो उसके पीछे भागते हैं।

कोई मौका दोबारा नहीं खटखटा था। दूसरा मौका पहले मौके से बेहतर या बदतर हो सकता है पर वह ठीक पहले वाले मौके जैसा नहीं हो सकता। इसीलिए सही वक्त पर सही फैसला लेना बेहद जरूरी होता है गलत वक्त पर लिया गया सही फैसला भी गलत फैसला बन जाता है।

कामयाबी के टिके रहने के लिए भी मजबूत बुनियाद की जरूरत होती है और कामयाबी की बुनियाद होता है हमारा नजरिया।

तहजीब कभी नीचे से ऊपर की ओर नहीं जाती बल्कि वह हमेशा ऊपर से नीचे की ओर आती है

बुरे माहौल में लोगों से अच्छे व्यवहार की आशा नहीं की जा सकती।

कुछ समय निकालकर इस बात पर गौर कीजिए कि हमारा माहौल हम पर कैसे असर डालता है और हम जो माहौल तैयार करते हैं वह दूसरों पर कैसे असर डालता है।

अलग-अलग लोगों से मिले तजुर्बे के मुताबिक हमारा व्यवहार भी बदल जाता है।

ज्ञान को योजनाबद्ध ढंग से समझदारी में बदला जा सकता है और समझदारी हमें कामयाबी दिलाती है।

शिक्षा ऐसी होनी चाहिए जो हमें केवल  रोजी रोटी कमाना नहीं बल्कि जीने का तरीका भी सिखाए।

जिंदगी की राह रुकावट ओ से भरी पड़ी है और अगर हमारा नजरिया नकारात्मक हो तो अपने लिए सबसे बड़ी रुकावट हम खुद बन जाते हैं।

हमारे सामने मौजूद किसी भी तथ्य से ज्यादा महत्वपूर्ण उस तथ्य के बारे में हमारा नजरिया होता है क्योंकि हमारी सफलता या असफलता उसी से तय होती है। नॉर्मन विंसेंट पीले

हमारा मकसद क्या है सोना तलाश ना पूर्णविराम अगर हम किसी नुकसान या किसी चीज में कमियां ढूंढ लेंगे तो हम को ढेरों कमियां दिखाई देंगे। लेकिन हमें किस चीज की तलाश है सोने की या मिट्टी की? कमियां ढूंढने वाले तो स्वर्ग में भी कमियां निकाल देंगे। अधिकतर लोगों को वही मिलता है जिसकी उन्हें तलाश होती है।

अच्छाई वापसी का रास्ता ढूंढ लेती है, यह प्रकृति का बुनियादी नियम है।  अच्छा काम करते समय फल पाने की इच्छा रखने की जरुरत नहीं  है।  फल तो कुदरती तौर पर अपने आप मिलता है। 

अच्छे पहलू पर ध्यान देने का यह मतलब नहीं है कि कमियों को नजरअंदाज कर दिया जाए।

वह चांदनी रातों में सोया उसने सुनहरी धूप का मजा उठाया कुछ करने की तैयारी में जिंदगी गुजार कर वह गुजर गया कुछ ना कर हार कर -जेम्स अलबरी

अगर हम सकारात्मक नजरिया बनाना और कायम रखना चाहते हैं तो आज मैं जीने और हर काम को तुरंत करने की आदत डालें।

कोई भी काम पूरा होने पर खुशहाली लाता है और हौसला बुलंद होता है जबकि आधा अधूरा काम हमारी हिम्मत को वैसे ही खत्म कर देता है जैसे पानी के टैंक में कोई छेद टैंक को खाली कर देता है।

ईर्ष्या उस बाघ की तरह है , जो न केवल अपने शिकार को, बल्कि उस ह्रदय को भी चिर डालती है, जिसमे यह बसती है।- माइकेल बीयर 

बीते दिनों के गलतियों को भूल जाएं और आगे आने वाले दिनों में ज्यादा बड़े कामयाबी हासिल करने के लिए आगे बढ़े। 

अपने को बेहतर बनाने में इतना वक्त लगाएं कि दूसरों की आलोचना करने के लिए हमारे पास वक्त ही ना बचे।

इतने बड़े बने की चिंता छू ना सके और इतने अच्छे बने कि गुस्सा आए ही नहीं।

खुले दिमाग पर खली दिमाग में क्या अंतर है ? खुला दिमाग लचीला होता है, यह गुणों के आधार पर किसी विचार को स्वीकार या अस्वीकार कर सकता है। 

अपने सभी दोस्तों को एहसास कराएं कि हम उनकी खूबियों और मजबूतीयों की कदर करते हैं।

केवल अच्छी से अच्छी बातें सोचे केवल अच्छे से अच्छे नतीजों के लिए काम करें और केवल अच्छे अच्छे नतीजों की उम्मीद करें।

अगर हम अपने नजरिए को सकारात्मक बनाना चाहते हैं तो टालमटोल की आदत छोड़े और तुरंत काम करो पर अमल करना सीखें।

जो काम आप आज कर सकते हैं उसे कभी भी कल पर ना डालें- बेंजामिन फ्रैंकलीन

अपनी दिक्कतों के बारे में सोचने के बजाय अपनी सहूलियतों के बारे में सोचें

हम शिकायतें करने में इतने आदी हो गए हैं कि उनकी जो कि और हमारी नजर ही नहीं जाती जो हमारे पास मौजूद हैं।

हमारे पास ऐसी बहुत सारी चीजें हैं जिनके लिए हमें शुक्रगुजार होना चाहिए।

हमें मिली बहुत सारी ब्लेसिंग छुपे हुए खजाने की तरह है।

ज्ञान में शक्ति बनने की क्षमता है और यह तभी शक्ति बनता है जब इसका इस्तेमाल किया जाता है।

सीखने और खाने में काफी समानता है वह ग्राम अहम बात यह नहीं होती कि हमने कितना खाया है बल्कि यह होती है कि हमने कितना बचाया है।

सच यह है कि ज्ञान में शक्ति छुपी होती है पर असली शक्ति बुद्धिमत्ता है।

अगर आप सोचते हैं कि ज्ञान पाना महंगा है तो अज्ञानी बनकर देखो 

अपने सलाहाकार सावधानी से चुनिए, लेकिन अमल अपने ही फैसले पर करिए. 

समझदारी का मतलब किसी हुनर को तेजी से सीखना है।

इच्छा वह नजरिया है जो किसी हुनरमंद इंसान को क्षमता वान बनाता है।

बहुत से लोग हुनरमंद तो होते हैं लेकिन सामर्थ्य नहीं होते क्योंकि सही नजरिए के बिना काबिलियत व्यर्थ जाती है।

अज्ञानी होना उतनी शर्म की बात नहीं जितने की किसी काम को सही ढंग से सीखने की इच्छा ना होना बेंजामिन फ्रैंकलीन

शिक्षा के बिना व्यावहारिक बुद्धि हासिल की जा सकती है लेकिन व्यावहारिक बुद्धि के बिना अच्छी से अच्छी शिक्षा भी किसी काम की नहीं।

अज्ञानी होना बुरी बात नहीं लेकिन अज्ञान को अपना कैरियर बना लेना यकीनन बेवकूफी है। कुछ लोग अज्ञान जमा कर लेते हैं और फिर उसी को शिक्षा मानने की भूल कर बैठते हैं। 

लगातार सकारात्मक शिक्षा प्राप्त करने से सकारात्मक विचार जन्म लेते हैं।

सकारात्मक सोच वाले लोग उन खिलाड़ियों की तरह होते हैं जो लगातार अभ्यास करके अपने अंदर ताकत का एक भंडार जमा कर लेते हैं जिसका इस्तेमाल वे मुकाबले के वक्त करते हैं। बिना अभ्यास के जब भंडार ही नहीं रहेगा तो वह भरोसा किस पर करेंगे?

अच्छी सोच वाले लोग मूर्ख नहीं होते । वह आंखों पर पट्टी बांधकर जिंदगी नहीं बिताते पूर्णविराम वे जिंदगी में जीत हासिल करने वाले ऐसे लोग होते हैं जिन्हें अपनी सीमाएं मालूम होती हैं पर वह अपनी मजबूरियों पर ध्यान देते हैं। दूसरी तरफ हारने वालों को अपनी मजबूरियों का एहसास होता है पर उनका सारा ध्यान अपनी कमजोरियों पर टिका रहता है।

अगर हमारे पास अच्छे विचारों का एक सुरक्षित भंडार होगा तो हम उन नकारात्मक विचारों पर जीत हासिल करने में कामयाब हो जाएंगे वरना वह हम पर हावी हो जाएंगी।

अगर हम अच्छा स्वाभिमान जल्दी बनाना चाहते हैं तो इसका सबसे अच्छा तरीका यह है कि कुछ काम ऐसे लोगों की मदद के लिए करें जो उसका बदला ना तो पैसे से ना ही कुछ और दे कर चुका सकते हैं।

इंसान होने के नाते लेनदेन हम सब को करना पड़ता है लेकिन ऊंचे दर्जे के आत्म सम्मान वाला स्वस्थ शख्सियत वह होता है जिसे केवल लेने की ही नहीं बल्कि देने की भी आवश्यकता महसूस होती है।

अगर हम चील के तरह आकाश की बुलंदियों को छू ना चाहते हैं तो हमको चील के तौर-तरीके को सीखना होगा।.

ज्यादातर लोग मन में कुछ करने की इच्छा लिए ही कब्र में चले जाते हैं।

हम अपनी दूरदर्शिता की कमी की वजह से बेहतर हासिल नहीं कर पाते।

जब कोई जिंदगी में कामयाबी हासिल करता है तो कुछ लोग उस पर कीचड़ उछालते हैं और उसकी टांग खींचने की कोशिश करते हैं। जब हम खुद को ऐसे कुछ लोगों से उलझने से बचा लेते हैं तो हम जीत जाते हैं।

मेरे शराब न पीने की एक वजह यह है कि मैं जानना चाहती हूं कि मैं कब अच्छा समय बिता रही हूं- लेडी एस्टर

नकारात्मक लोगों को अपने मकसद में कामयाब मत होने दीजिए.

मार्शल आर्ट में सिखाया जाता है कि जब कोई हम पर हमला करें तो उसे रोकने के बजाय अपनी जगह से हट जाइए। क्योंकि? इसलिए कि रोकने के लिए ऊर्जा की जरूरत होती है। उसका इस्तेमाल और बेहतर कामों के लिए क्यों ना किया जाए। तुच्छ लोगों से उलझने के लिए हम को उनके स्तर तक नीचे उतरना पड़ता है और वह यही चाहते हैं क्योंकि ऐसा करके हम उनमें से एक बन जाते हैं।

गाली गलौज के इस्तेमाल से यही लगता है कि ऐसी भाषा का इस्तेमाल करने वालों के पास शब्दों की कमी है। वह खुद पर काबू नहीं रख पाता और उसमें आत्म अनुशासन की कमी है।

जो जरूरी है उस से शुरू करें फिर जो मुमकिन है वह करें और आप अचानक पाएंगे कि आप नामुमकिन काम भी करने लगे हैं- सैंट फ्रांसिस ऑफ़ असीसी

असफल होने पर आप निराश हो सकते हैं लेकिन अगर आपने कोशिश ही नहीं की तो आप का नाश हो जाएगा- वेवर्ली सील्स 

अच्छी चीजों की तलाश करें । 

भरोसे का महत्त्व प्यार से भी ज्यादा है। हम कुछ लोगों को प्यार तो कर सकते है , लेकिन उन पर भरोसा नहीं कर सकते।  रिश्ते बैंक अकॉउंट की तरह है , हम उनमे जितना जमा करते है , वे उतने ही बढ़ते है इसलिए हम उतना ही निकल भी सकते है , लेकिन अगर आप बिना जमा किये निकलने की कोशिश करेंगे तो निराशा ही हाथ लगेगी। 

जिम्मेदारियां उस व्यक्ति की तरफ खिची चली आती है, जो उन्हें कंधे पर उठा सकता है - एल्बर्ट हब्बर्ड 

लगातार ज्ञान हासिल करने का कार्यक्रम तैयार करें।

इल्जाम लगाने का खेल बंद करें - यह कहना छोड़ दें कि - हर कोई ऐसा करता है , ऐसा तो कोई नहीं करता, सारा दोष तुम्हारा है। 

नकारात्मक असर से दूर रहे। 

जो काम जरूरी है उन्हें पसंद करने की आदत डालें।

अच्छे ढंग से दिन की शुरुआत करें।

कई बार जीत से ज्यादा हार में विजय होती है। - माइकेल डि मांटेग्न

में उस काम में असफल होना पसंद करूँगा ,जो आखिर में सफल होगा, बजाय उस काम में सफल होने के जो आखिर में असफल होगा। - वुडरो विल्सन 

पढ़ो ऐसे कि जैसे तुम्हे सदा जीना है , जियो ऐसे कि जैसे तुम्हे कल ही दुनिया से चले जाना है - महात्मा गाँधी 

हर रोज खुद से एक सवाल पूछने चाहिए - "क्या में जीवन में अपने उद्देश्य के करीब पहुंच रहा हूँ ? क्या में दुनिया को रहने लायक एक बेहतर जगह बना रहा हूँ ?"  अगर जवाब 'न ' है, तो मैंने आज अपने जीवन का एक दिन बरबाद कर दिया।  जिंदगी हमें उसी हिसाब से देती है ,जिस हिसाब हम उसे देते है। 

सफल होना तो बहुत लोग जानते है , पर सफलता को संभालना कम ही लोग जानते है। 

जिंदगी तमाशबीनों का खेल नहीं है।  हम चुपचाप बैठकर कुछ होते हुए नहीं देख सकते। जिंदगी को सार्थक बनाने के लिए एक उद्देश्य को खोजना और उसे पाने की कोशिश करना जरुरी है। 

किसी व्यक्ति को नैतिक शिक्षा दिए बिना वैचारिक शिक्षा देना समाज के लिए संकट को न्यौता देना है - थियोडोर रूजवेल्ट.

वचन ने निभाने का नतीजा होता है -परिवार का टूटना ,अधूरी जिंदगी ,लावारिस बच्चे ,व्यापार में नुकसान ,अकेलापन ,भरी तनाव ,मायूसी ,शर्मिंदगी. वचन दे और उन पर कायम रहें। 

वचनबद्धता को निभाना चरित्र की दृढ़ता को दिखता है।  इसमें अपनी इच्छाओं के बदले दूसरे की जरुरत को प्रमुखता की जाती है , लेकिन उसकी सनक और उटपटांग इच्छाओं को नहीं। 

पैसे का होना ,और उससे खरीदी गई चीजों को होना ठीक है , मगर पैंसे कमाने के दौरान हम उन चीजों को नहीं खोना चाहते ,जो अनमोल है। 

दुनिया की सबसे अच्छी और सबसे सुन्दर चीजों को न तो देखा और न ही छुआ ही जा सकता है। उन्हें दिल से महसूस किया जाना चाहिए ।  - हेलन कीलर

आज तक कोई इंसान इसलिए सम्मानित नहीं हुआ है की उसने दुनिया से क्या लिया , लेकिन  इसलिए जरुर हुआ की उसने क्या दिया। - काल्विन कुलिज 

अगर हम सिर्फ रफ़्तार और काम करने को कामयाबी समझ बैठे तो हमारी गाड़ी तो बहुत अच्छी चलेगी , मगर हम कहीं पहुचंगे नहीं। 

सक्रियता को उपलब्धि मानने की भूल न कारण।  कठघोड़ा ( Rocking Horse) अपनी जगह पर लगातार चलता दिखता  है, लेकिन आगे जरा भी नहीं बढ़ता। - अल्फ्रेड ए मोंटापर्ट 

छोटी योजनाये न बनाये उनमें इंसान के दिलों में जोश भरने वाला जादू नहीं होता। बड़ी योजनाएं बनाएं ,पूरी आशा के साथ उचाई की ओर बढ़ें और काम करें। -डेनियल एच बर्नहम 

जैसे एक कैमरे को तस्वीर लेने के लिए फोकस करना पड़ता है , वैसे ही हमें भी सफल जीवन पाने के लिए लक्ष्य बनाने की जरुरत पड़ती है। 

बिना कर्म के लक्ष्य खोखले सपनों की तरह होते है।  कर्म ही सपनों को लक्ष्यों में बदलता है।  अगर हम अपना लक्ष्य नहीं भी हासिल कर पाते,तो इसका मतलब असफल होना नहीं होता। देरी होने का मतलब हारना नहीं है ,इसका मतलब यह है कि अपने लक्ष्य को पाने के लिए फिर से योजना बनाने  जरुरत है। 

हमारे लक्ष्य इतने बड़े  होने चाहिए कि हमें प्रेरणा दे सकें, मगर असलियत से इतनी दूर भी ना हो की हम निराश हो जाएँ। 

हमें दो तरह की शिक्षा चाहिए।  एक वह जो हमें रोजी-रोटी कमाना सिखाए , दूसरी वह जो हमें जीने का ढंग सिखाए। 

तेज धुप और शक्तिशाली मैग्नीफाइंग ग्लास के बावजूद कागज को आग तब तक नहीं पकड़ सकती ,जब तक आप ग्लास को हिलाते रहेंगे।  अगर आप उसे थोड़ी देर स्थिरता से पकड़कर प्रकाश को फोकस करेंगे , तो कागज आग पकड़ लेगा।  ध्यान लगाने में ऐसी ताकत होती है। 

अगर हम अपने मकसद पर ध्यान नहीं लगाएंगे ,तो अपने लक्ष्य को हासिल नहीं कर पाएंगे।  अपने मकसद पर ध्यान लगाना एक मुश्किल काम है ,मगर यह एक कला है, जिसे सीखा जा सकता है।  

जीवन के रास्तों पर चले हुए अपनी आँखे अपने लक्ष्य पर जमाए रखें।  आम पर ध्यान दें, गुठली पर नहीं।

आत्मसुझाव एक ऐसा रास्ता है जिससे कि हम अपने दिमाग को एक बयां को हकीकत में बदलने के लिए प्रोग्राम करते है। 

सभी आदते बहुत छोटे रूप में शुरू होती है,लेकिन बाद में इनसे छुटकारा पाना बहुत मुश्किल हो जाता है।  सोचने का तरीका एक आदत है, और इसे बदला जा सकता है।  जरुरत इस बात की है कि  पुराणी बुरी आदतों को बदलकर नई अच्छी आदतों को अपनाया जाए। 

हमारा निर्माण आदतें करती है। ऐसा होना अच्छी बात है,क्योकि अगर हमें हमेशा कुछ करने से पहले सोचना पड़े, तो हम कोई भी काम ठीक से नहीं कर पाएंगे। 

जब हम पिक्चर देखते है, तो हँसते हैं, और रोते भी है ,क्योकि हमारे अंदर डाला गया भावनात्मक इनपुट, भावनात्मक आउटपुट के रूप में फ़ौरन बाहर आता है।  इनपुट को बदलने पर आउटपुट अपने आप बदल जाता है.

अच्छी आदतों को अपनाना मुश्किल है, लेकिन उनके साथ जीना आसान है. बुरी आदतें अपनाना आसान है, मगर उनके साथ जीना मुश्किल है।

Note:- शिव खेड़ा 16 पुस्तकों के लेखक हैं जिसमें अंतर्राष्ट्रीय बेस्टसेलर ( international bestseller ) You Can Win शामिल है ,जिसकी 33,00,000 से ज़्यादा कापियां 16 भाषाओं में बिक चुकीं हैं । इनकी दूसरी किताबें बिक्री के नये स्तर छू रही हैं । दुनियाभर में 17 देशों के दसियों हज़ार लोगों ने उनके प्रेरणादायक कार्यक्रमों से फायदा उठाया और करोड़ों तक इन्होंने अपना संदेश पहुंचाया है । 

 इनका ट्रेडमार्क है
 
“ जीतने वाले कोई अलग काम नहीं करते , वे हर काम अलग ढंग से करते हैं "

यह किताब आपकी मदद करेगी,यह सब करने के लिए : 

  • अच्छी सोच के सात कदमों पर विशेषज्ञता हासिल करके खुद में आत्मविश्वास लाएँ । 
  • अपनी कमजोरियों को खूबियों में बदलकर सफलता हासिल करें । 
  • सही कारण के लिए सही कदम उठाकर अपनी ख्याति को बढ़ाएँ । 
  • परिस्थितियों को अपने ऊपर हावी होने देने के बजाए उन पर काबू पाना सीखें ।
  • अपने आसपास के लोगों के साथ परस्पर मान - सम्मान बढ़ाकर आस्था और विश्वास को बनाएँ । 
  • रुकावटों को हटाकर असरदार बनें ।

Getting Info...

एक टिप्पणी भेजें

Cookie Consent
We serve cookies on this site to analyze traffic, remember your preferences, and optimize your experience.
Oops!
It seems there is something wrong with your internet connection. Please connect to the internet and start browsing again.
AdBlock Detected!
We have detected that you are using adblocking plugin in your browser.
The revenue we earn by the advertisements is used to manage this website, we request you to whitelist our website in your adblocking plugin.
Site is Blocked
Sorry! This site is not available in your country.