द लैंसेट का दावा - कोरोना के शुरुआती 14 माह में 1.19 लाख बच्चे अनाथ ' हुए |भारत में 90,751 बच्चों ने पिता को खोया

द लैंसेट का दावा - कोरोना के शुरुआती 14 माह में 1.19 लाख बच्चे अनाथ ' हुए , बाल अधिकार संरक्षण आयोग ने बताया था बेसहारा बच्चे महज 30,071कहर बना कोरोना

द लैंसेट का दावा - कोरोना के शुरुआती 14 माह में 1.19 लाख बच्चे अनाथ ' हुए , बाल अधिकार संरक्षण आयोग ने बताया था बेसहारा बच्चे महज 30,071

द लैंसेट का दावा - कोरोना के शुरुआती 14 माह में 1.19 लाख बच्चे अनाथ ' हुए भारत में 90,751 बच्चों ने पिता को खोया
 द लैंसेट का दावा - कोरोना के शुरुआती 14 माह में 1.19 लाख बच्चे अनाथ ' हुए |भारत में 90,751 बच्चों ने पिता को खोया

  • कहर बना कोरोना . भारत में 90,751 बच्चों ने पिता को खोया

 द लैंसेट का दावा - कोरोना के शुरुआती 14 माह में 1.19 लाख बच्चे अनाथ ' हुए |भारत में 90,751 बच्चों ने पिता को खोया

 नई दिल्ली:कोरोना ने जहाँ देश की अर्थव्यवस्था को तहस-नहस कर दिया है वही दूसरी और कोरोना के शुरुआती 14 महीनों ( 1 मार्च 2020 से 30 अप्रैल 2021 ) भारत के 1.19 लाख बच्चों समेत 21 देशों में 15 लाख से अधिक बच्चों को कोरोना के कहर ने अनाथ कर दिया है। 

उन बच्चों से covid -19 महामारी ने ने उनके माता-पिता को छीन लिया है,जिनकी देखरेख में बच्चे अपने उज्जवल भविष्य की और अग्रसर हो रहे थे।  

नेशनल इंस्टीट्यूट ऑन ड्रग एब्यूज और नेशनल इंस्टीट्यूट्स ऑफ हेल्थ ( एनआईएच ) का यह अध्ययन मशहूर हेल्थ जर्नल द लैंसेट में प्रकाशित हुआ है । अध्ययन में  यह दावा किया  गया है कि कोरोना लहर में देश के लगभग 25 हजार बच्चों ने अपनी माँ को तथा लगभग 90751 बच्चों के सिर से पिता का साया छीन लिया है । 

इस के आलावा कुछ 12 (जिनकी संख्या शायद इससे काफी अधिक हो सकती है) ऐसे बच्चे भी है,जिन्होंने इस pandemic में अपने माता-पिता दोनों को खो दिया है । 

रिपोर्ट के मुताबिक भारत देश में दादा - दादी / नाना - नानी को खोने वाले बच्चों की संख्या 2,898 है, जबकि 10 बच्चों ने दोनों को खो दिया । 

कोरोना से अनाथ हुए पुरे विश्वभर में  डालते है, आपको बतादें कि कुल मिला कर 11.34 लाख ऐसे यतीम बच्चे है ,जिन्होंने अपने माता - पिता  के आलावा अपने संरक्षक दादा - दादी / नाना - नानी को खो दिया । 

इस लिस्ट में 10.42 लाख ऐसे बच्चे हैं जिन्होंने अपनी माँ , पिता या दोनों को खो दिया है । दुनियाभर में अभी तक के सारे आंकड़ों को मिला देखा जाये तो कोरोना से 15.62 लाख ऐसे बच्चे है जिन्हे अपने मां -पिता में से एक को गवांया है ,व् देखभाल करने वालों में से एक को या साथ रह रहे दादा - दादी / नाना - नानी को खो दिया । 

द . अफ्रीका ,भारत,अमेरिका , पेरू , ब्राजील और मेक्सिको ये वे देश है ,जिनमे अनाथ हुए बच्चों की संख्या सर्वाधिक है। 

सरकार ने बताया था 15 माह में 3621 बच्चे अनाथ हुए

इसके विपरीत सरकारी आंकड़े कुछ और ही स्थिति  बयां करती है ,केंद्रीय महिला एवं बाल विकास मंत्रालय के अंतर्गत काम करने वाले राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग ने 7 जून 2021 को सुप्रीम कोर्ट में बताया था कि 1 अप्रैल 2020 से 5 जून 2021 के बीच 15 महीने में कोरोना से 3,621 बच्चों ने माता पिता दोनों को खोया यानी अनाथ हुए । 

वहीं , 26,176 बच्चों ने माता - पिता में से किसी एक को खोया और 274 बच्चों को उनके अभिभावकों ने छोड़ दिया । इस तरह 30,071 बच्चों को महामारी के कारण संकट में होने के रूप में पंजीकृत किया गया । इनमें से 15,620 लड़के , 14,447 लड़कियां हैं । 

चार ट्रांसजेंडर बच्चे भी हैं । इनमें से 39 प्रतिशत की उम्र 8 से 13 साल है । ये आंकड़े राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों ने आयोग के बाल स्वराज पोर्टल पर अपलोड किए थे ।

Rate this article

एक टिप्पणी भेजें