-->

Notification

Iklan

Iklan

संसद सत्र खत्म सियासत जारी : हंगामे पर विपक्ष हमलावर, सरकार का पलटवार

शुक्रवार, अगस्त 13 | अगस्त 13, 2021 WIB Last Updated 2021-08-16T21:04:40Z

 सत्र खत्म सियासत जारी. हंगामे पर विपक्ष हमलावर, सरकार का पलटवार. सदन का शोर सड़क पर

आंतरिक रिपोर्ट में दावाः महिला कांग्रेस सांसदों ने मंत्रियों का रास्ता रोका था 

नई दिल्ली: संसद के मानसून सत्र के आखिरी दिन राज्यसभा में हुआ सियासी हंगामा गुरुवार को सड़क तक पहुंच गया । कांग्रेस समेत 12 विपक्षी दलों ने सदन में सांसदों पर हमले के गंभीर आरोप लगाए तो सरकार ने राज्यसभा टीवी के फुटेज का हवाला देकर पलटवार किया । 

इससे पहले विपक्षी सांसदों ने विरोध मार्च निकाला । वे राज्यसभा के सभापति से भी मिले । वहीं , सरकार की ओर से केंद्रीय मंत्रियों ने सभापति से विपक्ष के रवैये की शिकायत की । 

मार्शलों - विपक्षी सांसदों की झूमा झटकी

वीडियो में विपक्षी सांसदों और मार्शलों में धक्का - मुक्की दिख रही है । मार्शल श्रृंखला बनाए हैं , ताकि विपक्षी सांसदों को आसंदी तक जाने से रोक सकें । हालांकि विपक्ष ने आरोप लगाया कि सरकार पूरा वीडियो जारी करे तो सच सामने आ जाएगा । 

इस बीच , उप राष्ट्रपति व राज्यसभा के चेयरमैन एम वेंकैया नायडू और लोकसभा के स्पीकर ओम बिरला ने कुछ सांसदों के असंसदीय व्यवहार पर चिंता जताई । बिरला वीरवार को नायडू से मिले थे । विपक्ष ने आरोप लगाया है कि राज्यसभा में बीमा बिल पारित करवाते वक्त बाहरी मार्शल बुलाए गए । मार्शलों ने सांसदों फूलो देवी नेताम , अमी याग्निक और छाया वर्मा को पीटा । .

विपक्षः सदन में पहली बार सांसदों को पीटा  ,संसद सत्र खत्म सियासत जारी : हंगामे पर विपक्ष हमलावर, सरकार का पलटवार

12 विपक्षी दलों ने निकाला मार्च, 8 मन्त्रियों ने भी साथ खोला मोर्चा

विपक्षः सदन में पहली बार सांसदों को पीटा 

राहुल गांधी के नेतृत्व में विपक्ष ने केंद्र के खिलाफ संसद से विजय चौक तक बैनर - तख्तियां लेकर मार्च निकाला । वहां राहुल ने कहा , संसद में देश के 60 % लोगों की आवाज को दबाया गया , अपमानित किया गया । हमने जासूसी पर चर्चा की मांग की , सरकार ने नकार दिया । 

संसद में विपक्ष को बोलने नहीं दिया गया । यह लोकतंत्र की हत्या है । सांसदों से धक्का - मुक्की की गई । उन्हें पीटा गया । नेता प्रतिपक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे के नेतृत्व में विपक्षी नेताओं ने राज्यसभा के सभापति वेंकैया नायडू से मुलाकात कर ज्ञापन सौंपा । इनमें शरद पवार , संजय राऊत , राम गोपाल यादव शामिल थे । - 

साझा बयानः 

राज्यसभा में जो हुआ , वह भयानक , अप्रत्याशित , दुखद है । सदन में ऐसे बाहरी लोगों को लाया गया , जो संसदीय सुरक्षा का हिस्सा नहीं थे ।

संसद सत्र खत्म सियासत जारी : हंगामे पर विपक्ष हमलावर, सरकार का पलटवार


सरकारः विपक्ष ने धमकी दी थी अब बिल न लाएं

विपक्ष के आरोपों और हंगामे का जवाब देने के लिए वीरवार को 8 केंद्रीय मंत्रियों ने संयुक्त प्रेस कॉन्फ्रेंस कर राज्यसभा में किए हंगामे को संसद की मर्यादा पर हमला बताया । राज्यसभा में सदन के नेता और मंत्री पीयूष गोयल , धर्मेंद्र प्रधान , मुख्तार अब्बास नकवी , प्रहलाद जोशी , भूपेंद्र यादव , अनुराग सिंह ठाकुर , अर्जुन राम मेघवाल और वी मुरलीधरन ने कहा , ' यह दुखद है कि विपक्षी सांसद शर्मिंदा नहीं हैं । 

देश से माफी मांगनी चाहिए । ' संसदीय कार्य मंत्री जोशी ने कहा , नियम तोड़ने वाले सांसदों के खिलाफ सभापति कड़ी कार्रवाई करें । - 

अनुराग ठाकुरः

 संसद में जो हुआ , उसके लिए विपक्ष को देश से माफी मांगनी चाहिए । विपक्ष का एकमात्र एजेंडा सड़क से संसद तक अराजकता पैदा करना था ।

रिपोर्टः माकपा सांसद ने गला दबायाः 

राज्यसभा की आंतरिक सुरक्षा रिपोर्ट में कहा गया है कि माकपा के एलामारन करीम ने पुरुष मार्शल से हाथापाई की और गला दबाया । कांग्रेस की फूलोदेवी नेताम और छाया वर्मा ने महिला मार्शल से झूमा - झटकी की । 

तृणमूल की डोला सेन ने पीयूष गोयल और प्रहलाद जोशी का रास्ता रोका । इस संबंध में दो सुरक्षाकर्मियों ने शिकायत की है ।

×
Berita Terbaru Update