Subscribe to my Youtube Channel Click Here Subscribe Also !

तकनीक में दिखेंगे बड़े बदलाव in 2022

Technology के मामले में वर्ष 2022 काफी बदला हुआ दिखाई देगा । नई तकनीक में मेटावर्स , एनएफटी , 5 जी , नेट जीरो , आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस आदि की गूंज ज्य
Santosh Kukreti

Technology के मामले में वर्ष 2022 काफी बदला हुआ दिखाई देगा । नई तकनीक में मेटावर्स , एनएफटी , 5 जी , नेट जीरो , आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस आदि की गूंज ज्यादा सुनाई देगी ..

Technology के मामले में वर्ष 2022 काफी बदला हुआ दिखाई देगा । नई तकनीक में मेटावर्स , एनएफटी , 5 जी , नेट जीरो , आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस आदि की गूंज ज्यादा सुनाई देगी ..

Big changes will be seen in technology in 2022

तकनीक(technology ) देश दुनिया में बड़ी तेजी से बदल रही है। एक साल पहले तक Metaverse, NFTS, Web3 आदि जैसे शब्द कम ही सुनाई देते थे , लेकिन नया साल इन चीजों के इर्द गिर्द घूमता हुआ दिखाई देगा । सरकार की मार्च - अप्रैल 2022 में 5 जी के लिए स्पेक्ट्रम नीलामी आयोजित करने की भी योजना है ।

Telecom Deptt के अनुसार , गुरुग्राम , बैंगलुरु , कोलकाता , दिल्ली , अहमदाबाद , हैदराबाद , पुणे आदि शहर अगले साल 5 जी सेवाएं प्राप्त करने के मामले में आगे रहेंगे यानी नये साल में 5 जी का इंतजार भी खत्म होने की उम्मीद है । ज्यादा तेज इंटरनेट तकनीक की दुनिया में कई बदलाव ला सकते हैं । 

हर तरफ AFI(Artifical Intelligence)

पिछले कुछ वर्षों से विभिन्न क्षेत्रों में एआइ ( आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस ) का इस्तेमाल बढ़ा है , लेकिन आने वाले वर्ष में इसके एक अलग स्तर पर पहुंचने की उम्मीद है । वैसे , एआइ(AFI) का मतलब सिर्फ स्मार्टफोन , स्मार्ट टीवी व अन्य स्मार्ट डिवाइस को कनेक्ट करना ही नहीं रह गया है , बल्कि आज एआइ द्वारा संचालित मशीन Learning Algorithms पहले की तुलना में ज्यादा तेज और सक्षम हो गए हैं । 

स्मार्ट कारें face recognition algorithm का उपयोग कर यह बता सकती हैं कि आप सड़क पर कितना ध्यान दे रहे हैं । अगर थके हुए हैं , तो यह सचेत कर सकता है । ऐसा ही Smart toilet भी आने वाला है , जो कंप्यूटर विजन का इस्तेमाल करके गैस्ट्रोइंटेस्टेनल(gastrointestinal) समस्याओं के निदान में मदद कर सकता है । 

आप किसी भी उद्योग या नौकरी में क्यों न हों , आपको आने वाले साल में जीवन को आसान बनाने के लिए डिजाइन किए गए AFI संचालित समाधान मिलने की उम्मीद है । वैसे , आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस की मदद के बिना कंप्यूटर कितना स्मार्ट हो सकता है , इसकी एक सीमा है । 

मगर जिस तरह से लोग अब Websites और Gadgets से हर जरूरत को पूरा करने की उम्मीद करने लगे हैं , उससे एआई की रफ्तार और बढ़ेगी । वर्ष 2022 में एआइ - संचालित गैजेट्स , एप्स , वेबसाइट और टूल बड़े पैमाने पर आने की उम्मीद है । 

Technology के मामले में वर्ष 2022 काफी बदला हुआ दिखाई देगा । नई तकनीक में मेटावर्स , एनएफटी , 5 जी , नेट जीरो , आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस आदि की गूंज ज्यादा सुनाई देगी ..

एनएफटी प्लेटफार्म (NFT Platform में आएगी तेजी  

नान फंजिबल टोकन ( एनएफटी ) डिजिटल वस्तु है । भारत में भी इसकी लोकप्रियता बढ़ती दिख रही है । महानायक अमिताभ बच्चन के Non-fungible token (NFT) कलेक्शन ने इस साल रिकार्ड बनाया है । एनएफटी के जरिए डिजिटल दुनिया में कोई भी खास आर्ट या फिर एंटीक सामान खरीद या बेच सकता है । 

इनमें Painting, Poster, Video, Audio, Book आदि भी हो सकते हैं । एनएफटी एक संग्रहणीय वस्तु या कलाकृति का ब्लांकचेन - आधारित टोकन है । दरअसल , इस नान फंजिबल टोकन का वर्चुअल तरीके से लेन - देन किया जाता है । 2022 में बड़े पैमाने पर एनएफटी दिखने की संभावना है । यह डिजिटल अर्थव्यवस्था का हिस्सा बन रहे हैं । , 

लो - कोड या नो - कोड साफ्टवेयर(Low-code or no-code software)

 आजकल APPS चलन में हैं , लेकिन यदि खुद अपना एवं तैयार करना चाहें , तो यह अब भी उतना आसान नहीं है , क्योंकि इसके लिए coding की जरूरत पड़ती है । इसका मतलब है कि कोडिंग नहीं जानते हैं , तो फिर खुद एप्स तैयार नहीं कर सकते । मगर अब चीजें बदल सकती हैं । लो - कोड या फिर नो - कोड साफ्टवेयर आने वाले वर्षों में खूब दिखाई देंगे । 

इसके बाद एप को तैयार करने के लिए आपको किसी कोड की कोई जरूरत ही नहीं पड़ेगी । कोई भी आसानी से एप डेवलप कर पाएगा । इसमें साफ्टवेयर बनाने के लिए विजुअल एलिमेंट्स की जरूरत पड़ेगी । बस ड्रैग ऐंड ड्राप के जरिए खुद का एप तैयार कर पाएंगे । हालांकि इसका यह भी मतलब नहीं है कि कोड आधारित साफ्टवेयर बाजार से जल्द हट जाएंगे , मगर कम - कोड और बिना कोड वाले विकल्प समय और लागत को कम करेंगे । 

Technology के मामले में वर्ष 2022 काफी बदला हुआ दिखाई देगा । नई तकनीक में मेटावर्स , एनएफटी , 5 जी , नेट जीरो , आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस आदि की गूंज ज्यादा सुनाई देगी ..

Augmented Reality in Shopping 

सिर्फ एक दशक पहले तक online shopping अपने आप में एक क्रांतिकारी विचार था , लेकिन अब किराने के सामान से लेकर कपड़े और गैजेट्स तक बस कुछ क्लिक में घर पहुंच जाते हैं । लेकिन आनलाइन शापिंग में आज भी लोगों को यह कमी खलती है कि उन्हें इसमें उन्हें रियल खरीदारी जैसा एहसास नहीं होता है । 

जैसे कि कपड़े की खरीदारी से पहले पूरी तरह से पता नहीं चल पाता है कि जैसा वह दिखता है , वास्तव में वैसा ही है या नहीं । उम्मीद है कि नये साल में आनलाइन खरीदारी में भी काफी कुछ बदलाव दिखेगा । आगमेंटेड रियलिटी " ( एआर ) के साथ विक्रेता अब प्रोडक्ट का Realistic Udi Model बना सकते हैं , जिससे संभावित खरीदारों को खरीदारी से पहले आइटम देखने की सुविधा मिलती है । इससे किसी उत्पाद का अधिक सटीक नमूना प्राप्त हो करेगा । 

5 जी के साथ दुनिया देखेगी 6 जी की स्पीड 

उम्मीद है कि अगले साल भारत में भी 5 जी की शुरुआत हो जाएगी । 4 जी की तुलना में 5 जी काफी तेज है । यह अधिकतम 20 जीबीपीएस की स्पीड प्रदान करता है । इसकी औसत स्पीड 100 Megabits per second (Mbps)से अधिक रहती है । भले ही अभी कई देशों के लिए 5 जी प्रारंभिक अवस्था में हो सकता है , मगर कई देशों में 2022 में 6 जी की शुरुआत भी होने वाली है । 

चीन ने 2018 में 6 जी पर शोध करना शुरू कर दिया था ।  2020 के अंत तक उसने टेराहर्ट्ज सिग्नल ट्रांसमिशन(Terahertz signal transmission) का परीक्षण करने के लिए एक उपग्रह लांच किया था । द . कोरिया , जापान 5G और कुछ यूरोपीय देशों ने 6 जी को गंभीरता से लेना शुरू कर दिया है । 2022 में इससे जुड़ी कई घोषणाएं देखने को मिल सकती हैं ।

Technology के मामले में वर्ष 2022 काफी बदला हुआ दिखाई देगा । नई तकनीक में मेटावर्स , एनएफटी , 5 जी , नेट जीरो , आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस आदि की गूंज ज्यादा सुनाई देगी ..

Metaverse की और होगी चर्चा 

 इस साल लोगों का एक नये शब्द मेटावर्स से परिचय हुआ , लेकिन यह क्या - क्या कर सकता है , इसको लेकर अब भी लोग पूरी तरह से निश्चिंत नहीं हैं । आज मेटावर्स एक डिजिटल रियलिटी है , जो वर्चुअल यूजर्स को इंटरैक्शन की अनुमति देने के लिए Internet Media , Online Gaming , Augmented Reality , Virtual Reality और क्रिप्टोकरेंसी(cryptocurrency) को जोड़ती है । 

उम्मीद कर सकते हैं कि मेटावर्स हर यूजर के इस्तेमाल के लिए उपलब्ध होगा । यह Developers, Apps, Ads और नये digital innovation के लिए Ecosystem तैयार करेगा । 

आज बहुत सारी कंपनियां जैसे कि Tencent, Facebook, Spotify, Zoom, Alibaba आदि इन पर कार्य कर रही हैं । एपल ने भी जल्द आने वाले AR glasses के साथ Metaverse की ओर इशारा किया है । 

2022 में जैसे - जैसे Metaverse Ecosystem बढ़ेगा , उम्मीद है कि कई technology areas के भविष्य पर सीधा प्रभाव पड़ेगा । इनमें गेमिंग , वियरेबल्स , वीआर और एआर , उपभोक्ता तकनीकी उत्पाद आदि शामिल हो सकते हैं ।

Getting Info...

एक टिप्पणी भेजें

Cookie Consent
We serve cookies on this site to analyze traffic, remember your preferences, and optimize your experience.
Oops!
It seems there is something wrong with your internet connection. Please connect to the internet and start browsing again.
AdBlock Detected!
We have detected that you are using adblocking plugin in your browser.
The revenue we earn by the advertisements is used to manage this website, we request you to whitelist our website in your adblocking plugin.
Site is Blocked
Sorry! This site is not available in your country.