केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के द्वारा कोरोना इलाज के लिए नई कोरोना गाइडलाइंस जारी की

0
 नई गाइडलाइन :-केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ( Union health ministry)के द्वारा कोरोना इलाज के लिए नई corona guidelines जारी की है । इस संशोधित गाइडलाइंस से पहले कोरोना मरीजों को  ये दवाएं दी जा रहीं थीं जैसे - हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन ,आइवरमेक्टिन ,डॉक्सीसाइक्लिन जिंक और मल्टीविटामिन समेत कई दवाओं पर अब  रोक लगा दी है ।
health ministry new guidelines,covid treatment new guidelines,    कोरोना गाइडलाइंस
केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के द्वारा कोरोना इलाज के लिए नई कोरोना गाइडलाइंस जारी की

health ministry new guidelines

 बगैर लक्षण वाले कोरोना मरीजों को अब दवाइयां लेने की जरूरत नहीं नई दिल्ली केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने कोविड 19 इलाज की गाइडलाइन में बदलाव किया है । 

इसके मुताबिक जिन मरीजों में Coronavirus के लक्षण नजर नहीं आते या हल्के हैं , उन्हें किसी तरह की दवाइयां लेने की जरूरत नहीं है । 

ये भी देखें :- Covaxin की तुलना में कोविशील्ड अधिक प्रभावी अध्ययन से हुआ खुलासा

दूसरी बीमारियों की जो दवाएं चल रही हैं , उन्हें जारी रखना चाहिए । ऐसे मरीजों को अपने डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए । 

भोजन की अच्छी खुराक लेनी चाहिए । मास्क , आपस की दूरी जैसे जरूरी नियमों का पालन करना चाहिए । 

ये भी देखें :-  अब राज्यों को नहीं खरीदना पड़ेगा टीका ,केंद्र ही खरीदकर सबको मुफ्त देगा

इतने से ही वे ठीक हो जाएंगे । स्वास्थ्य सेवा महानिदेशालय (directorate general of health services) से नई गाइडलाइन जारी की गई है । 

इसके तहत बिना लक्षण वाले मरीजों के इलाज में इस्तेमाल की जा रहीं सभी दवाओं को सूची से हटा दिया है ।
 इनमें बुखार और सर्दी - खांसी की दवाएं भी शामिल हैं । गाइडलाइन में कहा गया है कि ऐसे संक्रमितों को दूसरे टेस्ट करवाने की जरूरत भी नहीं है ।

covid treatment new guidelines

कोरोना के हलके लक्षण वाले मरीजों को नहीं दी जाएंगी ये दवाएं -

पहले

  • डॉक्टर हाइड्रॉक्सीक्लोरोकीन , फैविपिराविर दवाएं लिखते थे 
  • मरीजों को सीटी स्कैन की सलाह भी देते थे
  • कोविड टेस्ट करवाना जरूरी था
  • अस्पताल में भर्ती भी किया जाता था 

 अब

  •   डॉक्टर हाइड्रॉक्सीक्लोरोकीन , फैविपिराविर , आइवरमेक्टिन , डॉक्सीसाइक्लिन , जिंक और मल्टीविटामिन नहीं लिखेंगे 
  • मरीज को सीटी स्कैन नहीं कराना होगा 
  • कोविड टेस्ट नहीं कराना होगा
  • अस्पताल में भर्ती होने की जरूरत नहीं

कोरोना गाइडलाइंस -इन बातों का भी ध्यान दें

  1. डॉक्टर की सलाह के बाद ही स्टेरॉयड  यूज़ करें 
  2. कोरोना से ठीक होने के अपना ब्लड शुगर चेक करते रहे 
  3. एंटीबायोटिक और एंटीफंगल दवाइयों को इस्तेमाल करने से पहले डॉक्टर की सलाह लें 
  4. इम्युनिटी बूस्टर  दवाओं को लेना बंद कर दें 
  5. शरीर में पानी की कमी न होने दे 

 कोरोना महामारी की दूसरी लहर अभी भी पुरे देश में चल रही है । गनीमत यह है कि अब कोरोना के नए मरीजों की संख्या में लगातार कमी देखने को मिल रही है। 

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने इस बीच ,कोरोना के इलाज के लिए नई संशोधित गाइडलाइंस जारी कर दी है । 
अब कोरोना मरीजों के इलाज के लिए दी जाने वाली हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन ,आइवरमेक्टिन ,डॉक्सीसाइक्लिन इन सभी medicin को covid मरीजों को देने कि रोक लगा दी है , जबकि इससे पहले corona के मरीजों को ये सभी दवाइयां दी जा रहीं थीं। 

डायरेक्टर जनरल ऑफ हेल्थ सर्विसेज ( डीजीएचएस ) ने कोरोना की नई गाइडलाइंस के तहत एसिम्प्टोमेटिक मरीजों के इलाज में यूज़ की जा रहीं है। 

कोविशील्ड की दो डोज में समय अंतराल में बदलाव नहींः 

सकेंद्र सरकार कोरोना से बचाव के टीके कोविशील्ड की दो खुराकों के बीच समय अंतराल में कोई बदलाव नहीं करेगी । 

सूत्रों ने कहा कि सरकार इस बारे में ब्रिटेन के पब्लिक हेल्थ इंग्लैंड के नए निष्कर्षों के आधार पर जल्दबाजी में कोई फैसला नहीं करेगी ।

 सरकार इसकी वैज्ञानिक समीक्षा करेगी और उसके आधार पर ही निर्णय लेगी । सरकारी सूत्रों ने कहा , “ कोविशील्ड खुराक के बीच के समय अंतराल में तुरंत कोई बदलाव नहीं होने जा रहा है ।

 केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक दो डोज के बीच अंतराल को लेकर घबराने की जरूरत नहीं है ।





एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.
एक टिप्पणी भेजें (0)

#buttons=(Accept !) #days=(20)

Our website uses cookies to enhance your experience. Learn More
Accept !
To Top