प्रधानमंत्री ने लॉन्च की राष्ट्रीय वाहन स्क्रेपेज पॉलिसी कचरे से कंचन अभियान

0

 Narional Vehicle Scrappage Policy : स्क्रैप में देकर नई गाड़ी खरीदी तो 15% तक फायदा,हर 5 साल में फिटनेस टेस्ट । देशभर में मान्य रहेगा स्क्रैप सर्टिफिकेट एक बार ही इस्तेमाल कर पाएंगे नया वाहन खरीदते ही कैंसल्ड की मुहर लग जाएगी। 

स्क्रैप और फिटनेस सर्टिफिकेट क्या हैं ?,फिटनेस सर्टिफिकेट के लिए क्या करना होगा ?,स्क्रेपिंग कैसे तय होगी?,फिटनेस कितनी बार?,स्क्रैपिंग के लिए कौन से दस्तावेज ले जाने होंगे ?

राष्ट्रीय वाहन स्क्रेपेज पॉलिसी कचरे से कंचन 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बहुप्रतीक्षित वाहन स्क्रैपेज पॉलिसी ( Vehicle Scrappage Policy) लॉन्च की । गुजरात में निवेशक सम्मेलन को ३० वर्चुअली संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने Scrappage Policy को ' कचरे से कंचन अभियान ' बताया । साथ ही कहा , यह पॉलिसी देश में अनफिट वाहनों को सड़कों से हटाने में बड़ी भूमिका निभाएगी । 

पॉलिसी से देश में 10,000 करोड़ रुपए से अधिक का निवेश आएगा और हजारों रोजगार बनेंगे । नई पॉलिसी के अनुसार , 1 स्क्रैप होने वाले वाहन के बदले उसकी एक्स शो रूम कीमत की 4 से 6 प्रतिशत राशि मिलेगी । न वहीं स्क्रैप सर्टिफिकेट के आधार पर नया वाहन | लेने पर भी लाभ होंगे । इस तरह नए वाहन की न कीमत पर कुल 15 % तक फायदा मिल सकता . है । 

देश में निजी वाहन का रजिस्ट्रेशन 15 साल 1 और कमर्शियल वाहन का 10 साल के लिए में होता है । इसके बाद वाहन को scrap कराया जा संकेगा । वाहन अच्छी स्थिति में है तो फिटनेस सर्टिफिकेट ले सकेंगे । सर्टिफिकेट के आधार पर रजिस्ट्रेशन का नवीनीकरण होगा । मालिक चाहे तो वाहन सीधे स्क्रैप के लिए दे सकेगा । 

देशभर में अभी स्क्रैपिंग सेंटर या फिटनेस सेंटर खुलने बाकी हैं । ऐसे में हल्के वाहनों के लिए स्क्रैपिंग में एक - डेढ़ साल तो भारी वाहनों के लिए दो साल लग सकते हैं । वर्ष 2023 तक पूरी तरह अमल शुरू होगा ।

स्क्रेपिंग कैसे तय होगी?

निजी वाहन का रजिस्ट्रेशन 15 साल कमर्शियल का 10 साल के लिए तय है इसके बाद स्क्रैप में देना होगा 

कंडीशन ठीक है तो? 

गाड़ी ठीक है तो फिटनेस सर्टिफिकेट लेना होगा तब नया रजिस्ट्रेशन होगा और फिर सड़क पर चला सकेंगे

चोरी की गाड़ी स्क्रैप होगी?

स्क्रैप सेंटर पर गाड़ी के सभी दस्तावेज की जांच होगी इसीलिए इसकी आशंका बिल्कुल नहीं है

फिटनेस कितनी बार?

15 साल के बाद हर 5 साल में यह सर्टिफिकेट लेना होगा अधिकतम तीन बार ले सकेंगे फिर स्क्रैप ही होगा. 

पुराने वाहन की स्क्रैपिंग और नया खरीदने पर 15 % फायदा कैसे ? 

ऑटोमोबाइल सेक्टर के एक्सपर्ट संजीव गर्ग के मुताबिक , स्क्रैप सर्टिफिकेट और नए वाहन के रजिस्ट्रेशन पर छूट मिलाकर 10 % तक फायदा हो सकता है । नए वाहन पर 5 % डिस्काउंट अलग है । इस तरह कीमत पर कुल 15 % फायदा संभव है । यानी पुरानी गाड़ी स्क्रैप में देने के बाद 10 लाख रुपए की नई गाड़ी खरीदते हैं तो एक लाख रुपए तक फायदा हो सकता है ।

स्क्रैप और फिटनेस सर्टिफिकेट क्या हैं ? 

यदि पुराना वाहन कबाड़ में देना है तो स्क्रैप सर्टिफिकेट लेना होगा । वाहन चलने लायक है तो फिटनेस सर्टिफिकेट लेना होगा । दोनों सेंटर केंद्र सरकार की अनुमति से हर जिले में खुलेंगे । वहीं सारी प्रक्रिया होगी । 

मुझेवाहन स्क्रैप में देना है । क्या प्रक्रिया होगी ?

वाहन के रजिस्टर्ड मालिक को रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट के साथ स्क्रैपिंग सेंटर जाना होगा । वहां वाहन का पूरा रिकॉर्ड देना होगा । सेंटर पर यह जांच होगी कि वाहन राष्ट्रीय अपराध रिकॉर्ड ब्यूरो ( एनसीआरबी ) के चोरी हुए वाहनों के डेटा , में तो शामिल नहीं है । चोरी के रिकॉर्ड में नहीं मिला तो स्क्रैपिंग की आगे की प्रक्रिया होगी । 

फिटनेस सर्टिफिकेट के लिए क्या करना होगा ?

फिटनेस सेंटर वाहन का प्रदूषण , सड़क पर चलने लायक क्षमता , पर्यावरण के लिए खतरे जैसे मानकों पर फिटनेस टेस्ट होगा । ब्रेक , इंजन और बाकी पुर्जे भी जांचे जाएंगे । पूरा काम ऑटोमेटेड सेंटरों पर होगा । इसलिए हेराफेरी की गुंजाइश नहीं होगी । 

 यदि वाहन फिट नहीं पाया गया तो ? 

ऐसे में रजिस्ट्रेशन का रिन्यूअल नहीं होगा ।यानी आप उसे सड़क पर नहीं चला सकेंगे । रजिस्ट्रेशन नहीं होगा तो वाहन स्क्रैप में देने के अलावा कोई रास्ता नहीं होगा ।

 मेरे पास वैध रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट नहीं है ?

स्क्रैपिंग सेंटर पर रिकॉर्ड से वाहन की पहचान होगी । मालिक की पहचान व गाड़ी के विवरण के मिलान पर ही स्क्रैपिंग हो सकेगी । 

स्क्रैपिंग के लिए कौन से दस्तावेज ले जाने होंगे ?

वाहन का मूल रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट , मालिक की तरफ से स्क्रैपिंग की अनुमति का लैटर , पैन कार्ड , क्रॉस्ड बैंक चेक , पहचान पत्र जैसे- पासपोर्ट , वोटर आईडी , ड्राइविंग लाइसेंस , पते के प्रमाण के लिए बिजली , पानी , टेलीफोन या कुकिंग गैस का बिले और डिजिटल फोटो । वाहन पुश्तैनी है या विरासत में मिला है तो मालिक का मृत्यु प्रमाण पत्र और उत्तराधिकार प्रमाण देना होगा । 

 वाहन स्क्रैप में देने के बाद लाभ कैसे मिलेंगे ? 

सेंटर पर फार्म -2 भरने और दस्तावेज पूरे होने पर मालिक को प्राप्ति प्रमाण पत्र मिलेगा । यह डिपॉजिट सर्टिफिकेट कहलाएगा । इससे ही फायदे मिलेंगे । वाहन स्क्रैप होने के बाद सेंटर से मूल्यांकन राशि मिल जाएगी । 

वाहनस्क्रैपिंग सेक्या फायदा होगा ?

 स्क्रैप होने वाले वाहन का मूल्यांकन होगा । यह रकम वाहन की मौजूदा एक्स शो रूम कीमत की 4 से 6 प्रतिशत तय हुई है । स्क्रैप सर्टिफिकेट दिखाने पर नए वाहन की रजिस्ट्रेशन फीस माफ होगी । रोड टैक्स भी 25 % कम होगा । नए वाहन पर 5 % डिस्काउंट भी मिल सकता है । - 

यह सर्टिफिकेट कितनी बार इस्तेमाल होगा ?

 देशभर में कहीं भी मान्य होगा । यह एक बार के लिए मान्य होगा । नए वाहन की खरीदारी के बाद ' कैंसल्ड ' की मुहर लग जाएगी  

हर जिले में एक स्क्रैप सेंटर होगा राज्य मुफ्त जमीन देंगे

1-केंद्र ने कहा है कि राज्य सरकारें इन सेंटर को मुफ्त जमीन दें । 
2-हर जिले में कम से कम एक स्क्रैप सेंटर होगा । 
3-पॉलिसी की घोषणा के तत्काल बाद टाटा मोटर्स ने पहले स्क्रैप सेंटर के लिए गुजरात सरकार से करार किया है 
4-यहां हर साल 36 हजार वाहन स्क्रैप हो सकेंगे ।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.
एक टिप्पणी भेजें (0)

#buttons=(Accept !) #days=(20)

Our website uses cookies to enhance your experience. Learn More
Accept !
To Top