यम्केश्वर में बारिश की तबाही बादल फटने से वृद्धा की मौत प्रशासन हाई एलर्ट मोड़ पर

Cloud Burst in Yamkeshwar : देवभूमि उत्तराखंड में कुदरत का कहर जारी है कई क्षेत्रों में मूसलाधार बारिश के साथ बादल फटने की घटनाएं सामने आ रही है। यम्क

Cloud Burst in Yamkeshwar : देवभूमि उत्तराखंड में कुदरत का कहर जारी है,कई क्षेत्रों में मूसलाधार बारिश के साथ बादल फटने की घटनाएं सामने आ रही है। भारी बारिश के कारण उत्तराखंड में एक बार फिर 2014 जैसे जल प्रलय की स्थिति दिखाई दे रही है ।
यम्केश्वर में बारिश की तबाही बादल फटने से वृद्धा की मौत प्रशासन हाई एलर्ट मोड़ पर

यम्केश्वर ब्लॉक के अंतर्गत ग्राम बिनक पट्टी उदयपुर तल्ला मैं दिनाँक 20-08-2022 रात्रि 2:00 बजे भारी बारिश के कारण एक मकान की दीवार गिरने से दर्शनीय देवी पत्नी मार्गशीरू जिनकी उम्र लगभग 70 वर्ष है, दीवार ढहने से मृत्यु हो गई है। सूचना मिलने तक ग्रामवासियों की मदद से बॉडी को रेस्क्यू कर लिया गया है।

Difference between tourist place between Uttarakhand and Karnataka

यम्केश्वर ब्लॉक में पिछले 24 घंटों में 128 mm, औसत वर्षा का रिकॉर्ड दर्ज किया गया है। भूस्खलन और वाहनों के बहने की खबर भी है।उत्तराखंड के पौड़ी गढ़वाल जनपद के यमकेश्वर प्रखंड में बादल फटने से ताल घाटी, हेवल घाटी और यमकेश्वर की सतरुद्रा नदी में अतिवृष्टि के बाद बाढ़ जैसे हालात बन गए हैं।

वहीं दूसरी ओर जनपद आपदा कंट्रोल रूम को बैरागढ़ में तीन वाहन बहने और तीन मकानों के आंशिक रूप से क्षतिग्रस्त होने की सूचना प्राप्त हुई है। साथ ही मराल में 1चक्की के क्षतिग्रस्त होने तथा 2 पशु धन की हानि के साथ-साथ कृषि भूमि पर मलवा आने की सूचना प्राप्त हुई है। 

जिन लोगों के मकान आंशिक रूप से क्षतिग्रस्त हुई है उनको ग्राम पंचायत में सुरक्षित स्थानों में भी स्थापित कर लिया गया है।

उत्तराखंड लाइसेंस के लिए आवश्यक दस्तावेज ऑनलाइन प्रक्रिया

यम्केश्वर में बारिश की तबाही बादल फटने से वृद्धा की मौत प्रशासन हाई एलर्ट मोड़ पर

ग्राम बिनक में 01 महिला की मृत्यु के अलावा ग्राम दिबोगी में 01 भैस , की मृत्यु, ग्राम काण्डई में 01 गाय की मृत्यु, ग्राम मराल में 02 गाय की मृत्यु, ग्राम बड़ोली बड़ी में गौशाला क्षतिग्रस्त होने से 01 गाय एवं 01 बैल मलवे में दब गये हैं, ग्राम आवई में 01 भवन क्षतिग्रस्त, ग्राम पम्बा वल्ला में 03 भवन क्षतिग्रस्त, ग्राम बैरागढ़ में 03 भवन क्षतिग्रस्त, ग्राम बूंगा में 05 भवन क्षतिग्रस्त में, ग्राम बिनक में 01 भवन क्षतिग्रस्त

ग्राम महेड़ा में 03 गौशाला क्षतिग्रस्त, ग्राम मराल में 01 चक्की क्षतिग्रस्त, ग्राम पटना में 01 शौचालय क्षतिग्रस्त, ग्राम बूंगा में 01 शौचालय क्षतिग्रस्त, ग्राम बैरागढ़ में 03 वाहनों की क्षति, ग्राम उमरौली में 02 आवासीय भवनों में मलवा आ गया है । ग्राम विध्याणी में 01 गौशाला क्षतिग्रस्त, ग्राम बड़ोली में 01 गौशाला क्षतिग्रस्त, ग्राम बडोली में 01 शौचालय क्षतिग्रस्त होने की खबर सामने आ रही है.

Yamkeshwar महादेव मंदिर क्षेत्र भी बाढ़ के कारण आंशिक रूप से क्षतिग्रस्त होने की खबर है । यमकेश्वर से बहने वाली सतेड नदी के क्षेत्र में पड़नेवाले सीला गांव में महेंद्र सिंह, पुत्र कल्याण सिंह के घर को बाढ़ के पानी से भारी नुकसान हुआ है, खबर लिखे जाने तक गोशाला, किचन, और घर का काफी समान बहने की खबर ही, गनीमत है कि किसी भी तरह की कोई जान-माल की हानि नहीं हुई है ।

जहां एक और तेज बारिश और बादल फटने से क्षेत्र के लोगों का जनजीवन अस्त व्यस्त हुआ है। वहीं दूसरी ओर लक्ष्मण झूला कांडी दुगड्डा मोटर मार्ग, व अनेकों लिंक रोड जगह-जगह पर क्षतिग्रस्त हो गए हैं, जिससे जिसके कारण वाहनों का आवागमन लग बंद हो गया है।

प्रशासन मुस्तैदी से अपना काम कर रहा है, और इन मोटर मार्गो पर जगह-जगह जेसीबी के द्वारा मार्ग मैं पड़े मलबे को हटाने का काम जारी हैप्रशासन ने आपदा को देखते हुए हेल्पलाइन नंबर जारी किया है। तहसील यमकेश्वर अंतर्रगत अत्यधिक बारिश / आपदा की किसी भी अप्रिय घटना की सूचना तहसील यमकेश्वर कंट्रोल रूम मोबाइल न 7088128390 पर कॉल करके आपदा संबंधित जानकारी दे सकते हैं।





Rate this article

एक टिप्पणी भेजें