Search Suggest

Kirti Kumar biography in Hindi | कीर्ति कुमार जीवन परिचय

Kirti Kumar biography in Hindi | कीर्ति कुमार जीवन परिचय,कीर्ति कुमार एक बॉलीवुड अभिनेता और निर्देशक,सिंगर हैं, जिन्हें हत्या (1988), आंटी नंबर 1

Kirti Kumar biography in Hindi | कीर्ति कुमार जीवन परिचय

कीर्ति कुमार जीवन परिचय: कीर्ति कुमार एक बॉलीवुड अभिनेता और निर्देशक,सिंगर हैं, इनका पूरा नाम कीर्ति कुमार आहूजा है ,जो की एक पंजाबी परिवार से ताल्लुक रखते है। जिन्हें  हत्या (1988), आंटी नंबर1(1998) और नसीब (1998)  राधा का संगम, दो आँखें बारह हाथ आदि फिल्मों के लिए जाना जाता है। Kriti Kumar अभिनेता गोविंदा के बड़े भाई है ,और अभिनेता इशेंद्र सिंह, विनय आनंद, कृष्णा अभिषेक, रागिनी खन्ना, आरती सिंह और टीना आहूजा के चाचा है।

कीर्ति कुमार बॉलीवुड में एक बहुत प्रसिद्ध अभिनेता और निर्माता  हैं। इनके छोटे भाई और बॉलीवुड के हीरो नंबर 1 गोविंदा से सभी परिचित है,जो कि प्रसिद्ध अभिनेता हैं।  कीर्ति के पिता का नाम अरुण कुमार आहूजा और माता का नाम निर्मला देवी था। 

इनकी इकलौती संतान का नाम जनमेंद्र आहूजा उर्फ ​​डंपी है। जनमेंद्र निर्देशक का काम करते थे जिनका 2019 में 34 साल की उम्र में निधन हो गया है। 

यदि आप भी कीर्ति कुमार के बारे में और भी जानना चाहते हैं, Kriti kumar ahuja age biography ,age ,family ,और बहुत कुछ तो हमारे इस लेख को अंत तक अवश्य पढ़ें।

Kirti Kumar biography in Hindi | कीर्ति कुमार जीवन परिचय

कीर्ति कुमार जीवन परिचय

पूरा नाम

कीर्ति कुमार आहूजा

उपनाम

कीर्ति कुमार

जन्म दिन

3 अगस्त1956

जन्म स्थान

विरार, महाराष्ट्र, भारत

पिता का नाम

अरुण कुमार आहूजा

माँ का नाम

निर्मला आहूजा

पुत्र

जनमेंद्र आहूजा 

भाई

गोविंदा

बहने

पुष्पा आनंद,पद्मा शर्मा

कामिनी खन्ना

पेशा

अभिनेता, निर्माता, 

निर्देशक,सिंगर

राष्ट्रीयता

भारतीय

उम्र 2022

66 वर्ष

गृहनगर

विरार, महाराष्ट्र, भारत

धर्म

हिन्दू

जाति

पंजाबी सिन्धी

वैवाहिक स्थिति

विवाहित

राशि

मिथुन राशि

डेब्यू फ़िल्म

अनुराधा(1960)

शैक्षिक योग्यता

 -----

लम्बाई

58”

वजन/भार

80 किलो

आँखों का रंग

काला

बालों का रंग

काला

कीर्ति कुमार का प्रारंभिक जीवन एवं शिक्षा परिवार [Initial Life Education & Family] 

Kirti Kumar Ahuja का जन्म एक सम्पन्न पंजाबी परिवार मे 3 अगस्त 1956 को मुंबई के विरार मे हुआ था। इनके पिता एक भूतपूर्व अभिनेता रहे है जिनका नाम अरुण कुमार आहूजा( जिनका असली नाम गुलशन सिंह आहूजा) था ,एवं इनकी माता जी का नाम निर्मला आहूजा था जो की एक गायिका ओर अभिनेत्री थी। 

ये अपने परिवार मे 6 भाई -बहन मे से सबसे बड़े है ,इनकी चार बहने ओर एक भाई जिन्हे आप गोविंदा के नाम से जानते है। इनकी बहनों का नाम पुष्पा आनंद, पद्मा शर्मा, कामिनी खन्ना है। Kriti kumar ahuja age 66 साल है 

कीर्ति कुमार का फिल्मी सफर 

इन्होने अपने पिता की तरह ही फिल्मी दुनिया को चुना। 1960 में कीर्ति ने बॉलीवुड करियर में डेब्यू किया था, इनकी पहली फिल्म का नाम अनुराधा (1960) था। इनकी दूसरी फिल्म घर की लाज थी जो की साल 1960 में रिलीज हुई थी ,उसके बाद साल 1962 में शिव पार्वती, और 1965 में जिंदगी और मौत रिलीज हुई। 

जिस दौर में इन्होने फिल्मी दुनिया में कदम रखा वह दौर था धर्मेंद, दिलीप कुमार ,देवानंद आदि जैसे बॉलीवुड के सभी दिग्गज अभिनेता और बहुत कुछ अपने करियर के चरम पर थे ।

जिस कारण से ये मुख्य भूमिका के बजाय सपोटिंग एक्टर की भूमिका निभाने लगे। कीर्ति कुमार झुक गया आसमान ,बलिदान ,रामपुर का लक्षमण ,हीरा-पन्ना  के अलावा उन्होंने अपने करियर में 50 से अधिक फिल्मों में अभिनय किया है। ये गायकी का शौक भी रखते है और इन्होने सात से ज्यादा हिंदी फिल्मों में गानों को अपनी आवाज भी दी है। 

जब इनका फ़िल्मी करियर परवान नहीं चढ़ा तो इन्होने निर्देशन के क्षेत्र में हाथ आजमाया ,और अपनी पहली फिल्म निर्देशित की जिसका नाम था 'हत्या, जिसमे गोविंदा बतौर लीड रोल किया यह साल 1988 में रिलीज हुई थी। 

जो की गोविंदा की सबसे बेहतरीन फिल्मों में से एक जानी जाती है ,उसी फिल्म में उन्होंने एक निर्माता की भूमिका भी निभाई थी। वर्ष 1992 में राधा का संगम फिल्म में फिर से बतौर  निर्माता काम किया जिसमे इनके भाई गोविंदा ने अभिनय किया था।

1970 का दशक इनके करियर को नयी उचाईयों में ले गया ,और औसतन इनकी हर साल  कम से कम एक फिल्म रिलीज होने लगी। 1970 में आई फिल्म  सच्चा झूठा में जब उन्होंने अभिनय किया तो उनकी किस्मत बदल गई। उनका अभिनय इतना अच्छा था कि उन्हें फिल्मों के प्रस्ताव अधिक मिलने लगे। 
1970 से उनके करियर ने एक सकारात्मक मोड़ लिया और इसने उनके जीवन को बदल दिया। फिर उन्होंने 1978 में फिर से एक ब्लॉकबस्टर फिल्म दी। फिल्म का नाम मुकद्दर का सिकंदर था। इसमें कीर्ति कुमार के साथ अमिताभ बच्चन मुख्य भूमिका में थे। यह फिल्म बॉक्स ऑफिस चार्ट बस्टर थी।

1980 में आई इनकी फिल्म दो और दो पंच जो की सुपर हिट साबित हुई ,बटोर अभिनेता के तौर पर इनकी अंतिम फिल्म थी मर्द अमिताभ बच्चन और कीर्ति ने शमशेर की भूमिका निभाई थी। फिल्म 1985 में रिलीज हुई थी।


Rate this article

एक टिप्पणी भेजें