हरिमन शर्मा apple nursery | गर्म इलाकों में उगने वाले सेब को मिली सरकारी मान्यता

हिमाचल प्रदेश वर्ष 1999 की बात है । उस समय हिमाचल में बहुत कोहरा पड़ा था । हिमाचल के सीमावर्ती जिले बिलासपुर में रहने वाले हरिमन शर्मा का खुद का पूरा
Santosh Kukreti

Hariman Sharma Apple Nursery,हिमाचल के सीमावर्ती जिले बिलासपुर में रहने वाले हरिमन शर्मा

  • पॉजिटिव खबर गर्म इलाकों में उगने वाले सेब को मिली सरकारी मान्यता 
  • कोहरे से आम का बाग खत्म हुआ तब सेब उगाए , 29 राज्य उगा रहे इनकी पेटेंट किस्

हरिमन शर्मा apple nursery | गर्म इलाकों में उगने वाले सेब को मिली सरकारी मान्यता 

 हिमाचल प्रदेश वर्ष 1999 की बात है । उस समय हिमाचल में बहुत कोहरा पड़ा था । हिमाचल के सीमावर्ती जिले बिलासपुर में रहने वाले हरिमन शर्मा का खुद का पूरा बगीचा खत्म हो गया था । इस इलाके में आम की फसल होती है , लेकिन कोहरे का असर ऐसा हुआ कि सौ - सौ साल पुराने पेड़ भी नहीं बचे ।

सबकुछ खत्म हो गया , लेकिन हरिमन ने हार नहीं मानी । और सेब की फसल के बारे में सोचा । वैसे हिमाचल प्रदेश के ऊपरी इलाके जैसी ठंडी जगह में सेब अच्छी खासी संख्या में होते हैं , लेकिन पंजाब से सटे बिलासपुर में आमतौर पर मौसम गर्म रहता है और सेब उगाने के बारे में कोई सपने में भी नहीं सोचता था । 

  ये भी देखें :-  मध्य प्रदेश में नूरजहां' आम जिसकी की कीमत पर पीस ₹1,000 तक है

हरिमन शर्मा के इरादे सुनकर लोगों को लगा कि ये सोचना भी बेवकूफी है । अब हरिमन शर्मा की गर्म इलाकों में पैदा होने वाली सेब की किस्म हरिमन यानि ' HRMN 99 ' को तीन , सप्ताह पहले भारत सरकार ने 29 राज्यों के लिए रिलीज किया है । 

हरिमन की सेब की इस किस्म के पेटेंट में सात साल का वक्त लगा । देश के साथ - साथ बांग्लादेश , नेपाल , जर्मनी , जांबिया में भी इसकी खेती सफलतापूर्वक हो रही है । हरिमन बताते हैं कि उनको शुरू से कुछ अलग करने की ललक थी । 

जब बागवानी के लिए सरकारी नौकरी छोड़ी तो बहुत से लोग नाराज हुए क्योंकि वह पेंशन वाली जॉब थी । घर चलाने के लिए पत्थर तोड़ने का काम भी करना पड़ा । पानी के लिए कोशिश की तो भूजल नहीं था । लेकिन धीरे - धीरे सफलता मिलनी शुरू हुई । 

रास्ता उस समय थोड़ा आसान हुआ तो किसी के जरिए तत्कालीन सीएम प्रेम कुमार धूमल से मिले । इसके बाद एग्रीकल्चर व हार्टीकल्चर डिपार्टमेंट के अधिकारियों से मुलाकात हुई । नेशनल इनोवेशन फाउंडेशन ( एनआईएफ ) में संपर्क किया । 

इन दिनों हरिमन देश के कई राज्यों में किसानों और बागवानों को फोन के जरिए मदद देते हैं । मणिपुर में इसके लिए नर्सरी भी बननी शुरू हो गई है ।

Hariman Sharma Apple Nursery,हिमाचल के सीमावर्ती जिले बिलासपुर में रहने वाले हरिमन शर्मा

48 डिग्री तापमान में भी उग सकते हैं ये विशेष सेब 

हरिमन शर्मा के नाम से पहचानी जाने वाले सेब की किस्म HRMN - 99 , 48 डिग्री तापमान वाले इलाकों भी उग सकती है । पौधा लगाने के दो से तीन साल में ये फल देना शुरू कर देता है । सात साल में इसका उत्पादन एक क्विंटल प्रति पेड़ रहता है । 

एनआईएफ ने प्रायोगिक तौर पर 1190 किसानों को 10 हजार पौधे दिए थे । इसकी मॉलीक्युलर स्टडी भी कराई गई , जिसमें इसको कम सर्दी में होने वाली अन्ना और डॉरसेट गोल्डन एप्पल से बेहतर पाया गया है । 

कर्नाटक , राजस्थान , उत्तर प्रदेश , हिमाचल प्रदेश , उत्तराखंड , दिल्ली , मध्य प्रदेश , हरियाणा और मणिपुर में भी इसके ट्रायल सफल हुए हैं । बेंगलुरु में तो किचन गार्डन में लोग इसको ड्रम्स में लगा रहे हैं ।

Getting Info...

एक टिप्पणी भेजें

Cookie Consent
We serve cookies on this site to analyze traffic, remember your preferences, and optimize your experience.
Oops!
It seems there is something wrong with your internet connection. Please connect to the internet and start browsing again.
AdBlock Detected!
We have detected that you are using adblocking plugin in your browser.
The revenue we earn by the advertisements is used to manage this website, we request you to whitelist our website in your adblocking plugin.
Site is Blocked
Sorry! This site is not available in your country.