formulas of peace-किसी चीज में शामिल हुए बिना सुधार नामुमकिन है

0

formulas of peace - without being involved in anything reform is impossible

formulas of peace - without being involved in anything reform is impossible

प्रबंधन का सिद्धांत अपनी जिम्मेदारियों और सौंपे गए कार्य पर ध्यान केंद्रित करने आधारित है , पर चाहे वे जो भी हों । आप अपने कर्तव्य पर इस तरह केंद्रित रहें कि उसका दायरा व्यापक हो जाए- अर्थात् आपसे जितनी आशा की जाती है उससे अधिक काम करें । उदाहरण के तौर पर , एक पति होने के नाते आप अपनी पत्नी के लिए एक उदार व समझदार साथी बनने , बच्चों के लिए आदर्श पिता बनने की जिम्मेदारी पर स्वयं को केंद्रित करें ! 

किसी परिस्थिति को बेहतर बनाने के लिए पहले आपको बेहतर बनना होगा । सामने वाले का दृष्टिकोण बदलने के लिए आपको अपना दृष्किोण बदलना होगा । अधिक आजादी पाने के लिए आपको ज्यादा जिम्मेदार और अनुशासित बनना होंगा । बच्चों को आज्ञाकारी बनाने के लिए अभिभावकों के रूप में आपको कुछ नियमों - सिद्धांतों का पालन करना होगा । 

टूटे हुए रिश्तों को जोड़ने के लिए पहले हमें अपने हृदय में झांककर अपनी जिम्मेदारियों व गलतियों को खोजना होगा । एक ओर खड़े होकर दूसरों की कमजोरियों की तरफ इशारा करना आसान होता है । ऐसा करके हम सिर्फ अपने अहंकार की पूर्ति करते हैं और स्वयं को सही ठहराते हैं । हम हमारी भावनाएं नहीं हैं । हम हमारी मनोदशा नहीं हैं । हम हमारे विचार भी नहीं हैं ... आत्म - बोध के द्वारा हम यह परीक्षण भी कर सकते हैं कि हम स्वय को कैसे ' देखते ' हैं । 

किसी चीज में शामिल हुए बिना समर्पण की भावना नहीं आती है । इस बात को याद कर लें , इसे लिख लें , इस पर निशान लगा लें , इसके नीचे रेखा खींच लें । शामिल नहीं होंगे तो समर्पण नहीं आएगा । -'स्टीफन के विवेकपूर्ण विचार ' किताब से साभार

Todays Positive Thoughts

हमें अपने अंधकार भरे समय में भी , प्रकाश की ओर ध्यान देना चाहिए । 

साहस के बिना कुछ नहीं कर सकते हैं , यह अपने दिमाग का सर्वोत्तम गुण है । - अरस्तु 

आज का पॉजिटिव चैलेंज Today's Positive Challenge

आज एक नई आदत डालें 

नई आदत डालने के लिए सबसे अच्छा तरीका उसे किसी विशेष समय से जोड़ना है । जैसे हमारा सुबह का रुटीन नई आदत के लिए अच्छा समय हो सकता है । सुबह ब्रश करने के दौरान दिन की प्लानिंग करने की आदत डाल सकते हैं । या सुबह की चाय एक मिनट ध्यान के साथ पी जा सकती है । या फिर नहाने के पहले पुशअप्स लगा सकते हैं । ऐसे ही शाम में स्नैक्स के समय कोई एक आदत डाल सकते हैं ।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.
एक टिप्पणी भेजें (0)

#buttons=(Accept !) #days=(20)

Our website uses cookies to enhance your experience. Learn More
Accept !
To Top