Type Here to Get Search Results !

शांति की सूत्र : भावनात्मक पोषण के लिए सुबह थोड़ा समय निकालें

Formula of Peace: आप उन जैसे ही होते हैं , जिनके साथ चाय पीते हैं । कुछ पल के लिए इस पर चिंतन करें कि आप वही बन जाते हैं , जिनकी संगति में रहते हैं । आप जिनके साथ अपना अधिकांश वक्त बिताएंगे ,  उनकी सोच . दर्शन और यहां कि उनके व्यवहार भी ग्रहण कर लेंगे । 

भावनात्मक पोषण के लिए सुबह थोड़ा समय निकालें , शांति की सूत्र  , formula of peace ,
यह प्रक्रिया अवचेतन स्तर पर होती है और हम यह जान भी नहीं पाते कि हम अपने आसपास के लोगों से प्रभावित हो रहे हैं । इसमें यकीन करें कि संगति में महान शक्ति है और हम जैसी संगति रखते हैं , उससे गहराई से प्रभावित होते हैं । क्या आप ऐसे लोगों के साथ अपना वक्त बिता रहे हैं , जिनका जीवन ऐसा है , जिसके सपने आप देखा करते हैं ? 

क्या आप अपने नायकों के साथ संवाद कर पाते हैं ? क्या आपके मित्र और साथी आपको ऊंचा उठाते हैं और इस बात के लिए प्रेरित करते हैं कि आप उससे बड़ी किसी चीज का समर्थन करें , जिसका आप अभी कर रहे हैं ? अथवा क्या वे आपको आपके स्तर से नीचे लाकर , आपको और आपकी संभावनाएं सीमित कर कुंठित किया करते हैं । 

नेपोलियन हिल कहा करते थे कि भावनात्मक अभिव्यक्तियों से मिश्रित विचार एक चुंबकीय बल का निर्माण करते हैं , जो वैसे ही अथवा उससे संबद्ध विचारों को अपनी ओर खींचते हैं । अगर आप अपने जीवन में संतुलन लाना चाहते हैं , तो हर शुरुआत में 60 मिनटों का एक समय निकालें , जब आप अपने शरीर , भावनाएं तथा रूह का पोषण कर सकें । 

साप्ताहिक तौर पर प्रकृति के साथ कुछ वक्त व्यतीत करें । जिनकी प्रशंसा करने की जरूरत है , उन्हें प्रेमभरे पत्र लिखें । रोज कम से कम 10 मिनट के लिए मौन , एकांत तथा शांति का अनुभव लें । खुद से बड़ा एक उद्देश्य चुनें । - दमास्ट्री मैनुअल किताब से साभार एक दिन की

यह भी पढ़े-  शांति के सूत्र | चिंताजनक हालातों से बाहर निकलना आसान है

चिंता मुक्त होने के लिए विचारों की बजाय तथ्यों पर गौर करें | शांति के सूत्र

Thanks for Visiting Khabar Daily Update for More Motivational Thoughts Click Here .

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.

Top Post Ad

Below Post Ad

Hollywood Movies