formulas of peace:ऊर्जा का उम्र से संबंध नहीं , इसे महसूस करने के लिए सजग रहें

0

`शांति के सूत्र- शांति के सूत्र ऊर्जा का उम्र से संबंध नहीं , इसे महसूस करने के लिए सजग रहें

Energy is not related to age, be aware to feel it:जीवन में सबसे महत्वपूर्ण चीज हमारी आंतरिक ऊर्जा है । ये जबरदस्त ऊर्जा खाने या सोने से नहीं मिलती । ये हमारे भीतर हमेशा मौजूद होती है , लेकिन हम इसे हमेशा महसूस नहीं कर पाते । वजह है हमारी मायूसी ,

Energy is not related to age, be aware to feel it:जीवन में सबसे महत्वपूर्ण चीज हमारी आंतरिक ऊर्जा है । ये जबरदस्त ऊर्जा खाने या सोने से नहीं मिलती । ये हमारे भीतर हमेशा मौजूद होती है , लेकिन हम इसे हमेशा महसूस नहीं कर पाते । वजह है हमारी मायूसी , विचारों का संकुचन और खुद को सीमित करना । जब आप मन मस्तिष्क को संकुचित कर लेते हैं , तो भीतर अंधेरा - सा छा जाता है । वहां ऊर्जा उस समय भी होती है , लेकिन प्रवाह रुक जाता है । 

इसलिए जब आप मायूस होते हैं , तो ऊर्जाहीन महसूस करते हैं । इस ऊर्जा का उम्र से कोई संबंध नहीं है । ये समझना जरूरी है आपके खुलने से ऊर्जा बहती है और बंद होने से रुक जाती है । अपनी ऊर्जा को संयोग के भरोसे नहीं छोड़ना चाहिए । निर्णय आपके हाथों में है । सवाल है कि ऊर्जा का प्रवाह हमेशा कैसे जारी रखें या खोले रखें । इसका बहुत ही आसान तरीका है । 

इसे खुद को सिखा भी सकते हैं । बंद रहना एक आदत है और अन्य किसी भी आदत की तरह इसे बदला जा सकता है । बस मायूसी के समय खुद को याद दिलाना है । शुरू में ये थोड़ा अजीब लग सकता है । अगर आप वाकई मुक्त रहना चाहते हैं तो जीवन में प्रेम व उत्साह मिले तो उस पर ध्यान दीजिए । फिर अपने आप से • सवाल पूछिए कि यह आपको हमेशा क्यों नहीं मिल सकता । ये आपसे छिन क्यों जाता है । 

आप जितना अधिक आजाद और खुला हुआ महसूस करेंगे , आपके भीतर ऊर्जा का प्रवाह उतना ही ज्यादा रहेगा । जरूरत बस सजग रहने की है । ध्यान , जागरूकता और कुछ कोशिशों के साथ आप अपने आंतरिक केंद्रों को खुला रखना सीख सकते हैं । सिर्फ शांत और आजाद हो जाने से ऐसा किया जा सकता है । ' अनंत चेतना की खोज में किताब से साभार ,

आज का पॉजिटिव चैलेंज 

मित्रों से अपनी कमियां पूछें 

सच्चे दोस्त आईना दिखाने का भी काम करते हैं । उन्हें फोन करके अपनी कमियों के बारे में बात करें । अगर फोन पर कहने में उन्हें संकोच हो , तो मैसेज के जरिए भी राय ली जा सकती है । कई सर्वे कहते हैं कि मित्रों से बात करने पर ईगो जैसे मुद्दे सामने नहीं आते और उनसे मिली राय को लोग गंभीरता से लेते हैं । व्यक्तित्व में सुधार के लिए कई प्रतिष्ठित लाइफ कोच भी ये तरीका आजमाने के लिए कहते हैं ।

Today's Positive thoughts

कुछ ऐसा लिखे जो पढ़ने लायक हो या कुछ ऐसा करें जो लिखने लायक हो। ज्ञान में पूंजी लगाने से सर्वाधिक ब्याज मिलता है। 

आप रुक सकते है ,लेकिन आपके लिए कभी नहीं रुकता। खोया समय कभी वापस नहीं आता। -बेंजामिन फ्रेंकलिन 





एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.
एक टिप्पणी भेजें (0)

#buttons=(Accepted !)#days=(20)

Our website uses cookies to enhance your experience. Learn More
Accept !
To Top