अगर आप बोर्ड की परीक्षा देने वाले है तो ये मंत्र आपके लिए है

दसवीं और बारहवीं की परीक्षाएं होने वाली हैं । बाकी कक्षाओं के लिए स्कूल खुल चुके हैं । कोविड के बाद बच्चों में ध्यान केंद्रित करने में कुछ मुश्किलें

Board exam 2022, बोर्ड exam की तैयारियों

दसवीं और बारहवीं की परीक्षाएं होने वाली हैं। बाकी कक्षाओं के लिए स्कूल खुल चुके हैं। कोविड के बाद बच्चों में ध्यान केंद्रित करने में कुछ मुश्किलें पेश आ रही है अध्यापकगण तो अपनी कोशिशें करेंगे ही, लेकिन परीक्षार्थियों और स्कूल जाने वाले बच्चों के लिए चंद गतिविधियां यहां दी जा रही हैं, जिन्हें परीक्षा (Examination) की तैयारी से ब्रेक लेकर या स्कूल में भी करवाया जा सकता है। इन श्वास व ध्यान की कवायदों से फोकस करने में भरपूर मदद मिलेगी 

मन को साधने से लगेगा पढ़ाई में मन

सुनो, ध्यान दो listen, pay attention

शोर और मोबाइल जैसे मन भटकाने वाले उपकरणों के अत्यधिक इस्तेमाल के कारण बच्चों को ध्यान केंद्रित करने में कठिनाई हो रही है। यह कवायद उस मुश्किल को दूर करने में मदद करेगी। 

  • बच्चों से कहिए कि वे आंखें बंद करके बैठ जाएं। 
  • अब घर का कोई सदस्य या क्लास में हों, तो टीचर एक घंटा या घंटी बजाएं, जिसमें थोड़ी गूंज हो।  
  • बच्चों से कहिए कि वे केवल उस गूंज पर ही ध्यान केंद्रित करें। जब तक आवाज गूंजती रहे, वे उस पर ध्यान लगाए रहें। 
  • आवाज बंद हो जाने के कम से कम दो मिनट बाद आंखें खोलें। मन शांत होगा।
Read More: 

सांस का अहसास feeling of breath 

बेहतर नींद के लिए इस व्यायाम का उपयोग किया जा सकता है। 

  • बच्चे से कहिए कि वे लेट जाएं और आंखें बंद कर लें। 
  • इस समय चाहें तो अपने पेट पर कोई किताब या कोई लकड़ी का टुकड़ा रख लें। 
  • बच्चे से कहिए कि सांस लेते और छोड़ते समय पेट पर रखी किताब या वस्तु को हिलता महसूस करें। 
  • इस व्यायाम को अधिकतम पांच मिनट करने से बच्चे को अच्छी नींद आ जाएगी। 
  • परीक्षा के दिनों में तनावमुक्त होकर, सुकून की नींद लेने से विद्यार्थियों को अगले दिन की तैयारी के लिए सकारात्मक मानसिक स्थिति बनाने में मदद मिलती है।
चहलक़दमी करो take a walk

चहलक़दमी करो take a walk

टहलना मन को शांत करने का सबसे अच्छा जरिया माना जाता है।  

  • परीक्षा के तनाव से दूर करने के लिए बच्चे को साथ लेकर या उसे अकेले ही घर के भीतर या बाहर टहलने को कहें. 
  • उससे कहिए कि टहलते समय पांच से छह कदम चले लेकिन पूरे ध्यान से। ध्यान दे कि शरीर आगे झुका हुआ है, पैर कहां पड़ रहे हैं, सतह कैसी है, आस-पास पौधे हैं, वातावरण कैसा है आदि।"
  • ध्यानपूर्वक ऐसा करने से मन से परीक्षा का तनाव पूरी तरह हट जाएगा और बच्चे का ध्यान अपने वातावरण में रमने लगेगा। 
  • चंद मिनटों की इस चहलकदमी से बच्चे में नई ऊर्जा का संचार होगा।

अनुभूति करो feel it

यह व्यायाम रिलैक्सिंग के साथ साथ नई ऊर्जा से भरने वाला है। इसे परीक्षार्थियों के अधिक उपयोग का कह सकते हैं क्योंकि यह तनाव घटाने में मदद करेगा। 

  • बच्चों से कहिए कि आराम से पलंग पर लेट जाएं। आंखें बंद कर लें। 
  • अब पूरा ध्यान अपने शरीर के विभिन्न अंगों पर केंद्रित करते जाएं। पैरों से शुरू करना है। 
  • पैरों की उंगलियों, फिर पिंडली, पैर, जांघें, कमर, पेट से होते हुए ध्यान को क्रमानुसार सिर की ओर लेकर आने को कहें। सुकून से सांस लेते रहें। 
  • इस दौरान जब ध्यान आंखों और सिर तक आएगा, बच्चा रिलैक्स महसूस करने लगेगा।

रंग अपना पराया color your own 

सृजनशीलता बढ़ाने और तनाव घटाने में यह गतिविधि मदद करेगी.

  • बच्चों से कहिए कि वे अपनी आंखें बंद करके, सुकून से बेठ जाएं. 
  • अब उस रंग की कल्पना करें, जो उन्हें सुकून देता है, अच्छा लगता है. 
  • अब अपने तनाव, गुस्से आदि जैसे नकारात्मक भाव को भी रंग दे. 
  • अब गतिविधि शुरू करें। सांस लेते समय कल्पना करें कि सांस के साथ अच्छा रंग उनके फेफड़ों में भर रहा है और सांस छोड़ने पर नकारात्मक रंग बाहर जा रहा है। 
  • 10 बार इस गतिविधि को करने से तनाव भी दूर होगा और मन भी अच्छा होगा।

Rate this article

एक टिप्पणी भेजें