Search Suggest

क्या आप जानते हैं सभी सफल लोग किताबें क्यों पढ़ते हैं?

Why do all successful people read books?: क्या वास्तव आप books से ज्ञान हासिलकर रहे है? ओर क्या इसमे अपना बहुमूल्य समय देना जायज है? क्या किताबें पढ़न
क्या आप जानते हैं सभी सफल लोग किताबें क्यों पढ़ते हैं?

Why do all successful people read books?: क्या  वास्तव आप books से ज्ञान हासिलकर रहे है? ओर क्या इसमे अपना बहुमूल्य समय देना जायज है? क्या किताबें पढ़ना आपके या मेरे समय के लायक है? ओर क्या आप जानते हैं सभी सफल लोग किताबें क्यों पढ़ते हैं? इन सभी विषयों पर आज हम चर्चा करेंगे -

मैंने ओर आपने अपने स्कूल के दिनों में, कई बार यह एक बहुत ही सामान्य कथन है जो हमने कई बार बड़े होने पर अपने गुरुजनों एवं बड़े बुजुर्गो से सुना है, शाब्दिक रूप से कहे तो यह मज़ाक नहीं, और वह है-

"सफल होने के लिए किताबें पढ़ना शुरू करें!"

“Start Reading books to get successful!

और इसी बात को सोसल मीडिया साइट्स ,व यूट्यूब के जरिये YouTubersद्वारा वही बातें दोहराया जाती  है। अब बात आती है कि क्या यह वाकई मददगार है? या इस मुद्दे पर खुद से बहस करने से पहले प्रतीक्षा करें, मुझे अनुमान लगाने दें ...  क्या आपने BOOKS Read की भी कभी  कोशिश की है, लेकिन लगातार बने रहने में असफल रहे हैं, है ना?

ओर यदि नहीं, तो किताबें पढ़ने का आपका अनुभव क्या है?ओर किताबों से आप को क्या सीख मिली टिप्पणियों में लिखें और अपने ज्ञान ओर अनुभव को यहां खबर डेली अपडेट सभी के साथ साझा करें!-

बिल गेट्स जिनसे आप सभी परिचित होंगे उनके अनुसार, वह सालाना लगभग अलग विषयों पर  50 उपन्यास पढ़ते हैं। उन्होंने दावा किया कि "मैं नए विषयों को सीखने और अपनी समझ का आकलन करने का सबसे प्रमुख तरीका" पढ़ने के माध्यम से है।

क्या किताबें पढ़ने से वास्तव में हमारी जिंदगी बदल जाती है?

इसे इस तरह से समझते है कल्पना कीजिये कि- आप एक अंधेरे कमरे में हैं और उस कमरे में अपना कोई काम करना है ,परन्तु रूम में कोई प्रकाश  की कोई व्यवस्था नहीं है। लेकिन आपको  जरुरी काम,किसी भी तरह कमरे को रोशन करने की जरूरत है ताकि आप काम कर सकें।

इस स्थिति में आप क्या करेंगे?

सिंपल सी बात है आप बस अपने घर के मुख्य स्विचबोर्ड से जुड़ेंगे और एक बल्ब को अपने कमरे से जोड़ेंगे, है ना?

इसे इस तरह से समझे की जब आप किताबें पढ़ते हैं तो आपके दिमाग में भी ऐसी ही प्रक्रिया होती है... न्यूरोसाइंटिस्ट्स का कहना है कि किताबें पढ़ने से दिमाग के कुछ हिस्से सक्रिय हो सकते हैं। इसके अतिरिक्त मनोविज्ञान 3 मूलभूत बातें सिद्ध करता है:-

1.Creative Grows

किताबें आपकी सोच का दायरा बड़ा देता है इन्हे  पढ़ने से सोचने का तरीका बदल सकता है। यह हमें एक नीरस चीज़ को एक नए, नए विचार में बदलने का अवसर देता है। दूसरे शब्दों में कहे तो यह एक बंद पड़े बोतल के ढक्कन को खोलने के सामान है ,जिसके बारे में किसी ने कभी सोचा भी नहीं है।

2.Possesses Problume Solving Skills

 Successful लोगअपने को किसी विपरीत परिस्थिति के अनुकूल ढाल कर उस समस्या का समाधान ढूंढ निकलते है। समस्याओं को सुलझाने के कौशल का दावा करता है  समस्याओं को हल करने की क्षमता सफल लोगों की कुंजी है। कहा जाता है कि परिस्थिति कितनी भी कठिन क्यों न हो जब तक आप स्थिति को पलट नहीं सकते!

3. Make Books Best Friend

किताबे आपकी सबसे अच्छे दोस्त बन सकते है ,बशर्ते आपको उनसे जुड़ना होगा। इस पीढ़ी में लोगों से जुड़ना बहुत आसान है, लेकिन यह बहुत अकेला और हतोत्साहित करने वाला हो गया है क्योंकि हम शारीरिक रूप से दूर हैं। 

लेकिन एक किताब पढ़ने से हमें उस समय में एक महान कंपनी मिल सकती है और इसके अलावा हमें अनगिनत तरीकों से फायदा हो सकता है।

एलोन मस्क ने दावा किया है कि उन्होंने रॉकेट बनाने के तरीके को समझने के लिए किताबें पढ़ीं, जबकि वॉरेन बफेट ने हर व्यवसाय के बारे में जानने के लिए अपनी पढ़ने की आदत का इस्तेमाल किया, जिससे उन्हें अमेरिका का सबसे सफल निवेशक बनने में मदद मिली।

हालाँकि,इस बात में कोई दोराह नहीं की सभी सभी पुस्तकें आपको सफल नहीं बना सकती हैं, ठीक उसी प्रकार जैसे हर एक घोडा आपको रेस का चेम्पियन नहीं बना सकता। जैसे की यदि आप एक डॉक्टर बनना चाहते हैं, तो आर्किटेक्चर पर एक किताब पढ़ने से आपको डॉक्टर बनने में मदद नहीं मिलेगी।

इसी तरह, यदि आप केवल कथा, कहानियां  या रोमांटिक उपन्यास पढ़ते हैं, तो आप जीवन के हर कदम पर सफल नहीं हो सकते।

किताबें जो आपको आध्यत्मिक ज्ञान पाने,कड़ी मेहनत करने ,कुछ अलग ढंग से सोचने और आपकी थॉट्स प्रोसेस को बढ़ने वाली और नई तकनीकों को आजमाने के लिए प्रेरित करती हैं, या आपको तूफान में लड़ने के लिए प्रेरित या सिखाती हैं, वे किताबें हैं जो आपको सफल बनाएंगी।

मैं यह भी नहीं कह रहा हूं, और न ही कह सकता हूँ  कि आप रातोंरात सफल हो जाएंगे। BOOKS Read करना हमें केवल सही रास्ता खोजने की रणनीतियाँ सिखाएगा जहाँ आप अपने लक्ष्य / गंतव्य तक पहुँचने का रास्ता दिखाएगी !

प्रत्येक सफल व्यक्ति को ऊंचे पहाड़ों को प्राप्त करने और सभी बाधाओं को दूर करने की प्यास थी, जिसने उन्हें अपने रास्ते में आगे बढ़ने से रोक दिया। किताबों ने उन्हें रास्ता दिखाने में मदद की, और बाकी उनकी आँखों में सपना और आग  थी।

केवल सफल होने के लिए पढ़ने के बजाय, पढ़ें क्योंकि आप चाहते हैं। यदि ऐसा है, तो यह बोझ नहीं बनेगा, लेकिन इसे करते समय अपने आपको आराम करने दें। किताबें पढ़ने की ना कोई सीमा व ना उम्र होती। 

प्रत्येक पुस्तक यथासंभव अधिक से अधिक ज्ञान प्रदान करने का प्रयास करेगी, लेकिन आपको पता होना चाहिए कि इसे वास्तव में कैसे समझा जाए।जो की आपकी समझ को विस्तार देने का काम करेगी 

यहाँ आपको यह भी जानना होगा की हर दो हफ्ते में खुद को और दूसरों को एक किताब पढ़ने के लिए प्रेरित करने के प्रयास में, फेसबुक के संस्थापक मार्क जुकरबर्ग ने 2015 में अपना खुद का बुक क्लब स्थापित किया।

Kyon safal log padhte hai kitabe?सफल लोग किताबें क्यों पढ़ते हैं?

  • क्योंकि वे जानते हैं कि उनके सामने आने वाली हर समस्या का समाधान किसी और ने किया है किताब तो बस एक माध्यम है ।
  • शब्दकोष, व् ज्ञान का दायरा को विस्तार देने के लिए।  
  • उत्तर कहीं किसी के द्वारा खोजा और दर्ज किया गया था।
  • बेहतरीन शिक्षा किताबों से मिलती है, और सफल व्यक्ति यह समझने के लिए पर्याप्त बुद्धिमान होते हैं कि महत्वपूर्ण बदलाव करने के लिए उन्हें पहिया का आविष्कार करने की आवश्यकता नहीं है।
  • क्या किताबें पढ़ना वाकई मदद करता है? Benefits of Reading Books
  • मेरा मानना है कि किताबें पढ़ने से ज्यादा जरूरी है सीखना है । जो लोग सफल होते हैं वे आजीवन सीखने का प्रयास करने वाले होते हैं जो सक्रिय रूप से नई जानकारी की तलाश करते हैं।
  • दिमाग को मजबूत, व् फ्रेश बनाने में सहायता करता है 
  •  तनाव को कम करने में मददगार साबित होता है। 
  • अनिद्रा को दूर करता है। 
  • वर्क लोड के डिप्रेस्शन को कम करने में मद्दत करता है।
  • किताबे पढने से आपको शाररिक और मानशिक स्वास्थ्य का लाभ होता है। 
  • किताबे पढने से मन स्थिर रहता है। 
  • पढ़ना रचनात्मक और वैकल्पिक सोच को प्रोत्साहित करके सीखने को बढ़ाता है।

मैंने एक लेख में पढ़ा कि एलोन मस्क ने काम पर आने से पहले अपने इंजीनियरों से हर दिन सवाल पूछकर रॉकेट इंजीनियरिंग के बारे में बहुत कुछ सीखा। दरअसल, किताबें इस तरह व्यवहार करती हैं। वे लेखकों की विशेषज्ञता और राय को दर्शाते हैं।

इसका मूल औचित्य यह है कि पढ़ना किसी भी चीज को सीखने का सबसे बड़ा तरीका है, इसलिए सफल लोग बहुत कुछ पढ़ते हैं। पुस्तकें लेखक के विचारों को पाठकों तक पहुँचाती हैं। हालांकि, इसका मतलब यह नहीं है कि यह सीखने का एकमात्र तरीका है।

आप किसी सफल व्यक्ति से उसके अनुभवों के बारे में तुरंत सवाल कर सकते हैं और उससे बात कर सकते हैं। यह जानने के लिए कि उसने क्या किया और यह समझने के लिए कि वह असफल क्यों हुआ, आप किसी ऐसे व्यक्ति से भी बात कर सकते हैं जिसने कंपनी की विफलता का अनुभव किया है। हम इनमें से प्रत्येक दृष्टिकोण से या केवल बात करने और संवाद करने से बहुत कुछ सीख सकते हैं।


Rate this article

एक टिप्पणी भेजें