Subscribe to my Youtube Channel Click Here Subscribe Also !

इनपुट डिवाइस क्या है | what is Input Device and their type in Hindi

कंप्यूटिंग में,Input Device एक उपकरण का एक टुकड़ा है जिसका उपयोग सूचना प्रसंस्करण प्रणाली) information processing system),जैसे Computer या सूचना उपकरण
Santosh Kukreti

इस पोस्ट में हम जानेगे की इनपुट डिवाइस क्या है ? What is Input Devices and their Type in Hindi ,इनपुट डिवाइसेस के प्रकार Types of इनपुट  Devices in हिंदी, इनपुट डिवाइस कौन- कौन सी होते है और कितने प्रकार के होते है ,इनपुट डिवाइस क उदाहरण इत्यादि। तो आइये जानते हैं -इनपुट डिवाइस क्या है | What is Input Device and their Type in Hindi.

इनपुट डिवाइस क्या है | what is Input device and their type in hindi

इनपुट डिवाइस क्या है? What is Input Device in Hindi

Input Device in Hindi:- इनपुट और आउटपुट उपकरण कम्प्यूटर और मानव के मध्य सम्पर्क ( Communication ) की सुविधा प्रदान करते हैं । इनपुट डिवाइसेज मानवीय भाषा में दिए गए डाटा और प्रोग्राम्स को कम्प्यूटर के समझने योग्य रूप में परिवर्तित करती हैं । ये डिवाइसेज अक्षरों , संख्याओं और अन्य प्राकृतिक चिन्हों का 0 और 1 बिट ( Bit ) में अनुवाद करते हैं जिन्हें कम्प्यूटर समझ सकता है और डाटा प्रक्रिया सम्भव हो जाती है ।

दूसरी ओर आउटपुट डिवाइसेज 0 और 1 बिट के संकेतों को अनूदित कर मानव के समझने योग्य भाषा में परिवर्तित कर प्रस्तुत करते हैं । ये डिवाइसेज आउटपुट को स्क्रीन पर या प्रिंटर द्वारा कागज पर छापकर प्रस्तुत करते हैं । 

इनपुट या आउटपुट डिवाइसेज प्रायः कम्प्यूटर के सीधे नियन्त्रण में रहते हैं । डिस्प्ले डिवाइसेज और प्रिंटर इसके उदाहरण हैं । अन्य इनपुट या आउटपुट उपकरण जैसे कई इलेक्ट्रॉनिक कैश रजिस्टर  और कम्प्यूटर आउटपुट माइक्रोफिल्म ( COM ) डिवाइसेज सहायक उपकरण ( Auxiliar Equipments ) हैं । ये कम्प्यूटर की सामान्य इनपुट डिवाइसेज से भिन्न होती हैं और इनपुट किया जाने वाला डाटा एक निश्चित रूप से पहले से तैयार करके रखती हैं ।

आउटपुट डिवाइसेज परिणामों को दो अवस्थाओं में प्रस्तुत कर सकती हैं -Hard Copy और सॉफ्ट कॉपी ( Soft Copy ). 

किसी कागज या माइक्रोफिल्म पर छपा हुआ आउटपुट हार्ड कॉपी कहलाता है , यह स्थाई होती है । स्क्रीन या मॉनीटर पर आउटपुट Soft Copy कहलाती है जो कि अस्थाई होती है । स्क्रीन या मॉनीटर पर आउटपुट के दिखाई देने की क्रिया डिस्प्ले  कहलाती है । अतः स्क्रीन या मॉनीटर , डिस्प्ले डिवाइसेज हैं ।

ऑपरेटर इंटरफेस ( Operator Interface ) 

कम्प्यूटर ऑपरेटर का ( कार्य करते समय ) सम्पर्क , इंटरफेस कहलाता है । यदि उचित आउटपुट हार्डवेयर और Display Software उपलब्ध हों तो ऑपरेटर जो कि डिस्प्ले डिवाइस के सम्पर्क में है अपने कार्य को प्रभावशाली रूप से कर सकता है ।

हार्डवेयर इंटरफेस ( Hardware Interface ) 

ऑपरेटर कम्प्यूटर के मॉनीटर और इनपुट डिवाइस का एक साथ उपयोग करता है । इनपुट डिवाइस के रूप में प्राय : की-बोर्ड या माउस प्रयोग किए जाते हैं । जब भी की - बोर्ड से किसी अक्षर या कैरेक्टर की कुंजी ( key ) दबाई जाती है तो यह कैरेक्टर डिस्प्ले स्क्रीन पर कर्सर की स्थिति में दिखाई देता है । 

कर्सर स्क्रीन पर टिमटिमाता एक चिन्ह होता है जो यह दर्शाता है कि ऑपरेटर द्वारा इनपुट कैरेक्टर कहां दिखाई देगा । माउस , स्क्रीन पर उपस्थित कर्सर या पॉइंटर को इधर - उधर ले जाने का कार्य करता है 

इनपुट डिवाइसेज (  Input Device) 

कंप्यूटिंग में, Input Device एक उपकरण का एक टुकड़ा है जिसका उपयोग Information Processing System),जैसे Computer या सूचना उपकरण को Data और Control Signal प्रदान करने के लिए किया जाता है. इनपुट डिवाइस के उदाहरणों में कीबोर्ड, माउस, स्कैनर, कैमरा, जॉयस्टिक और माइक्रोफ़ोन आदि शामिल हैं।

दूसरे शब्दों में इनपुट डिवाइसेज डाटा और सूचना को कम्प्यूटर के समझने योग्य संकेतो ( 1 और 0 के Bit ) में परिवर्तित करके कम्प्यूटर में इनपुट करते हैं । आज विभिन्न प्रकार की इनपुट डिवाइसेज बाजार में उपलब्ध है । 

Categories of Input Device in Hindi

इन डिवाइसेज को दो श्रेणियों में , बांटा जा सकता है :

  1. ऑन लाइन इनपुट डिवाइसेज ( On line Input Devices )
  2. ऑफ लाइन इनपुट डिवाइसेज ( Off line Input Devices )  

ऑन लाइन इनपुट डिवाइसेज वे उपकरण हैं जो कम्प्यूटर से सीधे सम्पर्क में रहते हैं । ये डिवाइसेज कम्प्यूटर के साथ सक्रिय होकर इनपुट का कार्य सम्पन्न करते हैं । 

ऑफ लाइन इनपुट डिवाइसेज वे उपकरण हैं जो कम्प्यूटर से सीधे सम्पर्क में नहीं रहते हैं और स्वयं अपने नियन्त्रण में कार्य करते हैं ।

 What is a Computer language in Hindi | कंप्यूटर भाषा क्या है?

कम्प्यूटर का वर्गीकरण Classification of Computer in Hindi

कम्प्यूटर की संरचना,भाग और उनके कार्य क्या है ?

इनपुट डिवाइस के प्रकार Type/list of Input Device in Hindi

  • कीबोर्ड (key - board) 
  • माउस ( Mouse )
  • ऑप्टीकल मार्क रीडर ( Optical Mark Reader OMR )
  • ऑप्टीकल कैरेक्टर रिकोग्नीशन ( Optical Char acter Recognition - OCR )
  • मैग्नेटिक इंक कैरेक्टर रिकोग्नीशन ( Magnetic Ink Character Recognition MICR )
  • स्कैनर ( Scanner )
  • जॉय स्टिक(Joystick) 
  • Audio Input Device माइक्रोफ़ोन(Microphone) 
  • Video Input Device वेब कैमरा(Web Camera) 
  • ट्रैक बॉल(Track Ball) 
  • लाइट पेन (Light pen)
  • डिजिटाइज़िंग टैबलेट(Digitizing Tablet)
  • टच स्क्रीन(Touch Screen) 
  • बार कोड रीडर (Bar Code Readers) 

विभिन्न प्रकार की इनपुट डिवाइसेज का विवरण निम्नलिखित है : 

की -बोर्ड ( Key - board ) 

की -बोर्ड मुख्य और सुगम ऑन लाइन इनपुट डिवाइस है । डाटा और प्रोग्राम की -बोर्ड के द्वारा कम्प्यूटर में इनपुट किए जाते हैं । यह पारस्परिक प्रक्रिया ( Interactive Processing ) के लिए एक आवश्यक डिवाइस है जिसमें यूजर की - बोर्ड से निर्देश या कमाण्ड ( Command ) कम्प्यूटर को देता है और उसका प्रभाव तत्काल ही स्क्रीन पर देखता है । 

की - बोर्ड एक टाइपराइटर के समान कुंजियों वाला उपकरण होता है , लेकिन इसमें कुंजियों की संख्या टाइपराइटर से अधिक होती है । डाटा को 1 और 0 के बिट ( Bit ) में बदलकर की -बोर्ड दो प्रकार से सी.पी.यू में इनपुट कर सकता है - श्रेणीक्रम में या समान्तर क्रम में । 

अतः की -बोर्ड दो प्रकारों में बांटे जा सकते हैं -

  • सीरियल की -बोर्ड ( Serial keyboard )
  • पैरलल की -बोर्ड ( Parallel Keyboard ) 

सीरियल की - बोर्ड ( Serial Keyboard )- यह डाटा के 1 और 0 के बिट्स  को बिट-दर-बिट क्रमानुसार भेजता है । कम्प्यूटर में एक कन्वर्टर सीरियल डाटा को पैरेलल डाटा में परिवर्तित करने के लिए लगाया जाता है ।

समान्तर या पैरेलल की-बोर्ड ( Parallel Key board ) - यह डाटा की सभी 1 और 0 की बिट्स को पृथक् - पृथक् तारों में एक साथ भेजता है । 

की -बोर्ड की कुंजी दबाने पर डाटा को 8 बिट ( 1 और 0 ) के कोड में बदलने का कार्य की -बोर्ड एनकोडर ( Key - board Encoder ) करता है । की -बोर्ड एनकोडर का हार्डवेयर विवरण आपके पाठ्यक्रम में नहीं है । 

की -बोर्ड की सभी कुंजियों को हम तीन श्रेणियों में बांट सकते हैं -

  1. एल्फान्यूमेरिक की-बोर्ड 
  2. न्यूमेरिक की-पैड
  3. फंक्शन-कुंजियां 

एल्फान्यूमेरिक की - बोर्ड ( Alphanumeric Key board )

यह की - बोर्ड का केन्द्रीय भाग होता है जिसमें वर्णमाला या एल्फाबेट के अक्षर ( A Z या az ) और अंकीय ( Numeric ) कैरेक्टर ( 0 से 9 ) और अन्य कैरेक्टर जैसे - स्पेसबार ,,,, / , < , , , - , , , ' , − , ! , @ , # , $ , % , ^ , & , * , ( , ) , - , + , ] , \ , { , } , [ , ] होते हैं । इसके अलावा इस भाग में विशेष कुंजियां ( Keys ) भी होती हैं जैसे— Shift , Enter , Backspace , Tab , Ctrl , Esc और Alt . 

न्यूमेरिक की - पैड ( Numeric Keypad )

यह की - बोर्ड के दाएं भाग में 17 कुंजियों का समूह होता है जिसमें 0 से 9 तक के अंकों की कुंजियां होती हैं , जिनमें से चार कुंजियों पर दिशाएं व्यक्त करने वाले तीर या ऐरो ( Arrow ) अंकित रहते हैं । इस भाग में अन्य कुंजियां भी होती हैं जैसे— Numlock , / , * , + , Home , Pg Up , Pg Dn , Ins और Enter

न्यूमेरिक की - पैड के दो उद्देश्य ( Purpose ) होते हैं-

  • ऐरो कुंजियों की सहायता से कर्सर ( Cursor ) को चलाना , 
  • न्यूमेरिक कुंजियों के द्वारा तेज गति से डाटा ऐन्ट्री ( Data Entry ) करना । 

फंक्शन कुंजियां ( Function Keys )

की - बोर्ड के ऊपरी भाग में 12 फंक्शन कुंजियां होती हैं जिन पर FI , F2 , F12 अंकित रहता है ।

ये कुंजियां विशेष कार्यों को करती हैं जैसे – कमाण्डों ( Commands ) का आबण्टन ( Assignment ) , सॉफ्टवेयर प्रोग्राम्स में स्क्रीन पर मेन्यू दर्शाना आदि 

अतिरिक्त कुंजियां ( Additional Keys )- सन् 1995 के बाद आने वाले कम्प्यूटरों के की - बोर्ड में कुछ अतिरिक्त कुंजियां होती हैं जो नये सॉफ्टवेयर के आधार पर कार्य करती हैं , जैसे Sleep , Power , Volume , आदि ।

माउस ( Mouse ) 

यह एक ऑनलाइन इनपुट डिवाइस है जिसे हम अपने हाथ में पकड़कर काम में लेते हैं । समतल सतह पर माउस को हिलाने से इसमें नीचे लगी बॉल  घूमती है जो माउस में लगे छोटे - छोटे रोलरों को संवेदित करती है । यह गति डिजिटल मान ( Digital Value ) में बदलकर यह व्यक्त करती है । कि माउस किस दिशा में गति कर रहा है माउस में दो या दो से अधिक बटन होते हैं जिनको दबाने से स्क्रीन पर पॉइंटर की सहायता से स्क्रीन के अवयव चुने जाते हैं । माउस के बटन को अंगुली से दबाने की क्रिया क्लिक कहलाती है ।

लाभ(Advantages) 

  • प्रयोग करने में आसान है 
  • बहुत मूल्यवान(expensive) नहीं होता 
  • कुंजीपटल(keyboard) की तीर कुंजियों(arrow keys) की तुलना में कर्सर को तेज़ी से ले जाता है।

ऑप्टीकल मार्क रीडर ( Optical Mark Reader OMR )

यह एक ऐसी डिवाइस है जो किसी कागज पर पेन्सिल या पेन के चिन्ह की उपस्थिति और अनुपस्थिति को जांचती है । इसमें चिन्हित कागज पर प्रकाश डाला जाता है और परावर्तित प्रकाश को जांचा जाता है । जहां चिन्ह उपस्थित होगा , कागज के उस भाग से परावर्तित प्रकाश की तीव्रता कम होगी । यह तकनीक केवल छपे हुए कार्ड या फॉर्म पर निश्चित स्थानों पर बने बॉक्सों और पेन्सिल से भरे  Boxes को जांचती है । 

OMR किसी परीक्षा की उत्तरपुस्तिका को जांचने के लिए अत्यधिक उपयोगी डिवाइस है । इन परीक्षाओं में प्रश्नपत्र वैकल्पिक होते हैं और विद्यार्थी को चार या पांच विकल्पों में से उत्तर छांटकर बॉक्स को पेन्सिल से भरना होता है ।

OMR की प्रक्रिया गति ( Rate of Processing ) धीमी होती है , इसकी डाटा ट्रांसफर दर 200 से 250 पृष्ठ प्रति मिनट होती है । 

ऑप्टीकल कैरेक्टर रिकोग्नीशन ( Optical Char acter Recognition - OCR )

OCR एक ऐसी तकनीक है जिसमें पहले से छपे कैरेक्टर्स के परस्पर फर्क देखकर OCR मानक कैरेक्टर्स से पहचान की जाती है । OCR उपकरण टाइपराइटर से छपे हुए कैरेक्टर्स , कैश रजिस्टर के कैरेक्टर और क्रेडिट कार्ड  के कैरेक्टर पढ़ लेता है । 

OCR के फॉन्ट ( एक ही प्रकार के टाइप या मुद्रा अक्षर ) कम्प्यूटर में संग्रहीत रहते हैं जिन्हें ओ .सी .आर . स्टैण्डर्ड कहते हैं । इनमें OCR - A और OCR - B अधिक लोकप्रिय हैं ।

OCR की सामान्य गति 1500 से 3000 अक्षर प्रति सेकण्ड है जिन कार्यालयों में बिल या पर्ची फाड़कर दी जाती है , वहां OCR तकनीक अधिक उपयोग होती है । कम्प्यूटर द्वारा छपे बिल का दूसरा आधा पन्ना पुनः डाटा एन्ट्री करने के काम आ सकता है । जबकि उपभोक्ता बिल की रकम जमा करवाने पुनः इसे पेश करता है । 

मैग्नेटिक इंक कैरेक्टर रिकोग्नीशन ( Magnetic Ink Character Recognition MICR ) 

MICR बैंकिंग में अधिक उपयोग की जाने वाली तकनीक है , जहां अधिक संख्या में चैक जांचे जाते हैं । MICR तकनीक में चैक पर विशेष चुम्बकीय स्याही द्वारा कैरेक्टर छपे रहते हैं । MICR रीडर चैक पर छपे कैरेक्टर को चुम्बकीय कॉइल ( Coil ) के संवेदन से पढ़ता है । इसमें प्रकाशीय विधि से कोई प्रकाश कैरेक्टर्स पर नहीं डाला जाता है । 

स्कैनर ( Scanner )

स्कैनर एक इनपुट डिवाइस है । ये कम्प्यूटर में किसी पृष्ठ पर बनी आकृति या लिखित सूचना को सीधे इनपुट करता है । इसका मुख्य लाभ यह है कि यूजर को सूचना टाइप नहीं करनी पड़ती है । 

OCR , OMR . MICR स्कैनर के ही उदाहरण हैं । इनके अलावा इमेज स्कैनर होते हैं जो किसी चित्र , फोटोग्राफ , आकृति , आदि को कम्प्यूटर की मेमोरी में डिजिटल अवस्था में इनपुट करते हैं । आजकल पी . सी . के लिए अनेक प्रकार के स्कैनर उपलब्ध हैं जिनकी Resolution 300 dpi ( dot per inch ) से प्रारम्भ होती है । यहां रेजोलूशन से अभिप्राय उस चित्र की स्पष्टता से है जिसे स्कैन किया जाता है । इकाई क्षेत्रफल में चित्र के बिन्दुओं की संख्या रेजोलूशन कहलाती है । 

जॉयस्टिक ( Joystick )

यह खेल खेलने के काम में आने वाली इनपुट डिवाइस है । जॉयस्टिक के माध्यम से स्क्रीन पर उपस्थित टर्टल या आकृति को इसके हैण्डल से पकड़ कर चलाया जा सकता है । इसका प्रयोग बच्चों द्वारा प्रायः कम्प्यूटर पर खेल खेलने के लिए किया जाता है , क्योंकि यह बच्चों को कम्प्यूटर सिखाने का आसान तरीका है । 

वैसे तो कम्प्यूटर के सारे खेल की - बोर्ड द्वारा खेले जा सकते हैं , परन्तु कुछ खेल जो तेज गति से खेले जाते हैं , उन खेलों में बच्चे अपने आपको सुविधाजनक महसूस नहीं करते हैं । इसलिए जॉयस्टिक का प्रयोग किया जाता है ।

Audio Input Device माइक्रोफ़ोन(Microphone) 

Microphone एक ऑडियो इनपुट डिवाइस है जिसका का उपयोग किसी व्यक्ति की आवाज़ को कंप्यूटर में Input करने के लिए किया जाता है। एक साउंड कार्ड माइक्रोफोन से Analog Audio Signals को Digital Codes में ट्रांसलेट करता है जिसे कंप्यूटर स्टोर और प्रोसेस कर सकता है। Sound card डिजिटल साउंड को वापस एनालॉग सिग्नल में भी ट्रांसलेट करता है जिसे स्पीकर को भेजा जा सकता है।

किसी आवाज,ध्वनि या भाषण का उपयोग करके कंप्यूटर को ऑडियो इनपुट प्रदान किया जा सकता है। कंप्यूटर के ऑडियो इनपुट का उपयोग विभिन्न उद्देश्यों के लिए किया जा सकता है। 

इसका उपयोग टेलीफोन कॉल करने, इंटरनेट पर ऑडियो और वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के लिए, आवाज रिकॉर्ड करने, ऑडियो फाइल बनाने और इन फाइलों को ई-मेल पर भेजने के लिए एम्बेड करने, या बोले गए शब्दों को टेक्स्ट में अनुवाद करने आदि के लिए किया जा सकता है। माइक्रोफ़ोन का उपयोग विभिन्न अनुप्रयोगों जैसे मल्टीमीडिया प्रस्तुति में ध्वनि जोड़ने या संगीत के मिश्रण के लिए किया जाता है।

Video Input Device वेब कैमरा(Web Camera)

Webcam एक डिजिटल कैमरा होता है, जो लैपटॉप और कंप्यूटर के साथ प्रयोग में लाया जाता है. वेबकैम कंप्यूटर के अंदर इनपुट हार्डवेयर की तरह काम करता है. इसका मुख्य कार्य आपके कंप्यूटर में हाई रेगुलेशन वीडियो को कैप्चर करके आपके सिस्टम में सेव करना. 

इसके साथ ही अगर आप अपने कंप्यूटर के माध्यम से किसी दूसरे व्यक्ति के साथ वीडियो कॉलिंग या चैट करने के लिए वेबकैम का इस्तेमाल कर सकते हैं. पहले वेबकैम को कंप्यूटर के साथ अलग से यूज में लाया जाता था परंतु अब नए लैपटॉप और कंप्यूटर के साथ ही वह Webcam Inbuilt होता है.

ट्रैक बॉल(Track Ball) 

ट्रैक बॉल एक इनपुट डिवाइस है और एक कंप्यूटर कर्सर नियंत्रण उपकरण है. जिसका इस्तेमाल ज्यादातर माउस के बजाय नोटबुक या लैपटॉप कंप्यूटर में किया जाता है। इसकी आकृति Mouse से भिन्न होती है और देखा जाय तो ट्रैकबॉल एक उल्टा माउस है(इसमें एक आधी डाली गई गेंद होती है जिसे उंगलियां कर्सर की गति के लिए संकेत भेजने के लिए ले जाती हैं।) जो एक सॉकेट के भीतर जगह में घूमता है। 

User स्क्रीन पर कर्सर को वांछित स्थान(desired place) पर निर्देशित करने के लिए ball को रोल करता है और डेस्कटॉप ऑब्जेक्ट का चयन करने के लिए या टेक्स्ट प्रविष्टि(text entry) के लिए cursor को स्थिति में रखने के लिए ट्रैकबॉल के पास दो बटनों में से एक (माउस बटन के समान) पर क्लिक कर सकता है।

चूंकि पूरे उपकरण को स्थानांतरित नहीं किया जाता है, एक ट्रैक बॉल को माउस की तुलना में कम जगह की आवश्यकता होती है।  एक ट्रैक बॉल गेंद, एक बटन या एक वर्ग जैसे विभिन्न आकारों में आती है ।

लाइट पेन (Light pen) 

लाइट पेन (पेन के समान)एक लाइट-सेंसिटिव कंप्यूटर एक पॉइंटिंग इनपुट डिवाइस है. जिसका उपयोग आमतौर पर स्क्रीन पर टेक्स्ट या डेटा को चुनने या अन्यथा संशोधित करने या Monitor Screen पर चित्र बनाने के लिए किया जाता है। इसमें एक फोटोकेल और एक छोटी ट्यूब में रखा एक ऑप्टिकल सिस्टम होता है।

जब इसकी नोक को Computer मॉनिटर स्क्रीन पर ले जाया जाता है, और पेन बटन दबाया जाता है, तो इस pen के अंदर से Photocell Sensing तत्व स्क्रीन स्थान का पता लगाता है और कंप्युटर सीपीयू(CPU-Central processing unit) को संबंधित सिग्नल भेजता है। 

इसे इलेक्ट्रॉनिक पेन भी कह सकते हैं, क्योंकि यह पैन की तरह दिखता है। CRT मॉनिटर के साथ प्रयुक्त, ये डिवाइस स्क्रीन पर डेटा में हेरफेर और हाइलाइट करने का एक प्रारंभिक रूप था. एक लाइट पेन कैथोड-रे ट्यूब इलेक्ट्रॉन बीम द्वारा Scanned किए जाने पर पास के Screen Pixels की चमक में बदलाव का पता लगाता है और इस घटना के समय को कंप्यूटर को बताता है। 

चूंकि एक CRT एक बार में पूरी Screen को एक पिक्सेल स्कैन करता है, कंप्यूटर बीम द्वारा स्क्रीन पर विभिन्न स्थानों को स्कैन करने के अपेक्षित समय का ट्रैक रख सकता है और नवीनतम टाइमस्टैम्प से पेन की स्थिति का अनुमान लगा सकता है।

डिजिटाइज़िंग टैबलेट(Digitizing Tablet) 

यह एक इनपुट डिवाइस है जिसका उपयोग मुख्य रूप से ड्राइंग, स्केच आदि को इनपुट करने के लिए किया जाता है। Digitizing Tablet का उपयोग कंप्यूटर एडेड डिज़ाइन (CAD) के लिए भवनों के डिज़ाइन, Automotive Designs और Designing of Maps आदि के लिए किया जाता है।

Description & Working of Digitizing Tablet in Hindi

डिजिटाइज़िंग टैबलेट में दो भाग होते हैं- इलेक्ट्रॉनिक टैबलेट और पेन। Electronic Tablet एक फ्लैट बेड टैबलेट है। पेन बॉल Pen की तरह दिखता है लेकिन इसमें इलेक्ट्रॉनिक हेड होता है। पेन टैबलेट पर चलाया जाता है, तो टैबलेट पर प्रत्येक स्थिति Screen पर एक निश्चित स्थिति से मेल खाती है। 

पेन का उपयोग करके टैबलेट पर चित्र बनाए जा सकते हैं, और Computer को इनपुट के रूप में प्रदान किया जाता है, जहां टैबलेट पर एक स्थान स्क्रीन पर एक विशिष्ट स्थान से मेल खाता है। टैबलेट में सर्किट होता है जो टैबलेट पर पेन की गति का पता लगा सकता है, Movement को डिजिटल सिग्नल में परिवर्तित कर सकता है और कंप्यूटर को Digital Signal भेज सकता है।

टच स्क्रीन(Touch Screen) 

टच स्क्रीन एक इलेक्ट्रॉनिक डिस्प्ले स्क्रीन है जो एक इनपुट डिवाइस भी है। उपयोगकर्ता स्क्रीन पर चित्रों, गतिशील तत्वों या शब्दों को टाइप करने के लिए हाथ के इशारों और उंगलियों की हरकतों का उपयोग करके कंप्यूटर, टैबलेट, स्मार्टफोन या टच-नियंत्रित उपकरण (touch-controlled devices) के साथ इंटरैक्ट करता है। 

Touch Screen का उपयोग आमतौर पर ऑटोमेटेड टेलर मशीन (एटीएम), सार्वजनिक सूचना कंप्यूटर जैसे अस्पताल, एयरलाइन आरक्षण, रेलवे आरक्षण, सुपरमार्केट आदि जैसे अनुप्रयोगों में किया जाता है।

बार कोड रीडर (Bar Code Readers)  

BCR (barcode reader) या स्कैनर, जिसे पीओएस (प्वाइंट ऑफ सेल) स्कैनर के रूप में भी जाना जाता है, एक हार्डवेयर इनपुट डिवाइस है जो लेजर का उपयोग करके बारकोड को पढ़ने में सक्षम है। यह Product का विवरण भी लोड कर सकता है या उस उत्पाद के बारे में जानकारी को डेटाबेस में लॉग कर सकता है। बारकोड रीडर का एक उदाहरण सुपरमार्केट बारकोड स्कैनर है जो किसी उत्पाद की कीमत को पढ़ता और लॉग करता है।

दूसरे शब्दों में कहें तो बार कोड रीडर एक उपकरण है जिसका उपयोग बार कोडित डेटा (प्रकाश और अंधेरे रेखाओं के रूप में डेटा) को पढ़ने के लिए किया जाता है। बार कोडित डेटा का उपयोग सामान्‍यत: वस्‍तुओं पर लेबल लगाने, पुस्‍तकों को नंबर देने आदि में किया जाता है। यह हाथ में स्‍कैनर हो सकता है या स्‍टेशनरी स्‍कैनर में लगाया जा सकता है।

Computer ke main part उनकी full form एवं उनके कार्य

होम पेज

यहाँ क्लिक करें


Getting Info...

एक टिप्पणी भेजें

Cookie Consent
We serve cookies on this site to analyze traffic, remember your preferences, and optimize your experience.
Oops!
It seems there is something wrong with your internet connection. Please connect to the internet and start browsing again.
AdBlock Detected!
We have detected that you are using adblocking plugin in your browser.
The revenue we earn by the advertisements is used to manage this website, we request you to whitelist our website in your adblocking plugin.
Site is Blocked
Sorry! This site is not available in your country.