Power of positivity- रोजमर्रा की नकारात्मकता कम करने का फ़ार्मूला

0

Power of positivity- रोजमर्रा की नकारात्मकता कम करने का फ़ार्मूला 

Formula to reduce everyday negativity

Power of positivityशीर्षक पढ़कर चौंकिए मत । हां , यह सच है कि जिंदगी में नकारात्मकता भी जरूरी है और हमारा उद्देश्य इसे खत्म करना नहीं बल्कि कम करना होना चाहिए । सकारात्मकता की कीमत भी इस पर निर्भर करती है कि नकारात्मकता के खिलाफ आप किस तरह खड़े हैं । कभी कभी निगेटिव भाव भी जरूरी और मददगार होते हैं जैसे किसी अपने की मौत के बाद नकारात्मक ख्याल आते ही हैं । 

दुख मनाने , गमगीन होने के लिए ये निगेटिविटी ठीक है । अन्याय के खिलाफ इंसान निगेटिव हो जाता है । हमारा उद्देश्य होना चाहिए कि रोजमर्रा की बेवजह नकारात्मकता को कम करें । ये किसी तरह से मदद नहीं करती और जकड़े रखती है । 

दिनभर की नकारात्मकता से निपटने का एक वैज्ञानिक तरीका है , उस नकारात्मकता के साथ तर्क करना । जैसे एक वकील तथ्यों के साथ तर्क - वितर्क करता है । ठीक

' नॉन उसी तरह । मान लीजिए आप समय प्रबंधन नहीं कर पा रहे , तो अपने प्रति निगेटिव होने के बजाय परिस्थितियों या घटनाओं को लिखकर नकारात्मकता को काउंटर करने की कोशिश करें । 

निगेटिव थिंकिंग ' नाम की किताब के लेखक मार्टी सेलिगमैन कहते हैं अपने नकारात्मक विचारों के साथ तर्क करके आप उन्हें सामने आने से नहीं रोकते , बल्कि सच्चाई से रूबरू कराके उन्हें अगली बार उबरने से रोकते हैं । नकारात्मकता के साथ तर्क करना कॉन्गनिटिव बिहेवियर थैरेपी का मुख्य हिस्सा है ।

Thought of the day 

यदि आप खुद को कल्पना में अमीर होना नहीं देखते हैं तो आपको अपने बैंक बैलेंस में यह कभी नहीं दिखाई देगा ।

महान लोगों ने अपनी सबसे बड़ी सफलता अपनी सबसे बड़ी विफलता से सिर्फ एक कदम आगे बढ़कर हासिल की है । - नेपोलियन हिल , विख्यात अमेरिकी लेखक 

आज का पॉजिटिव चैलेंज 

जहां मुमकिन हो , पैदल जाएं 

एक सर्वे के अनुसार पैदल चलने के मामले में भारतीय पीछे हैं । शहरी लोगों की स्थिति तो और भी खराब है । प्रतिदिन 4400 कदम चलकर हृदय संबंधी बीमारियों का खतरा कम हो जाता है । कोशिश करें कि जहां तक मुमकिन हो , पैदल जाएं । मोबाइल एप से कदमों का हिसाब रख सकते हैं ।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.
एक टिप्पणी भेजें (0)

#buttons=(Accept !) #days=(20)

Our website uses cookies to enhance your experience. Learn More
Accept !
To Top