Health Tips : कच्ची सब्जी खाएं और सेहत बनाए

Healthy habits: खानपान में बदलाव आने के साथ - साथ हमारे खाना पकाने के तरीक़े में भी बदलाव आया है । किंतु इन नए तरीक़ों के कारण पोषण भी खोता जा रहा है
कच्चा खाओ सेहत बनाओ, Eat raw vegetables and maintain health in hindi, health Tips in Hindi,

Health Tips : कच्ची सब्जी खाएं और सेहत बनाए

Healthy Habits: खानपान में बदलाव आने के साथ - साथ हमारे खाना पकाने के तरीक़े में भी बदलाव आया है । किंतु इन नए तरीक़ों के कारण पोषण भी खोता जा रहा है । लिहाज़ा भोजन ऐसे पकाएं कि स्वाद बरकरार रहे और पोषण भी । कच्चा खाएं सेहत बनाएं 

Read Also: Healthy tips- स्वस्थ जीवन के 15 सूत्र  

भारतीय भोजन में तरह - तरह की सब्जियों का उपयोग होता है । टमाटर , पालक , लौकी जैसी सब्जियां पोषण का खजाना हैं , वहीं हरा धनिया और कढ़ी पत्ता अपने आप में औषधि हैं । किंतु जब हम कोई सब्शी बनाते हैं तो सब्जियों को इतना भून देते हैं या तड़का लगा देते हैं कि उनका पोषण ख़त्म हो जाता है । 

यदि इन्हें कम भूना जाए या ऊपर से डालकर पकाया जाए तो इनका पोषण बरकरार रखा जा सकता है । इससे स्वाद में कोई फ़र्क नहीं आएगा और न ही सब्जी की रंगत पर ।

टमाटर 

टमाटर को दाल व सब्जियों में डाला जाना आम है , पर जैसे ही टमाटर को पकाते हैं वैसे ही उसमें पाया जाने वाला पोटैशियम और विटामिन - सी लगभग नष्ट हो जाते हैं । इसलिए टमाटर को कच्चा ही खाना चाहिए । अगर दाल में डालना है तो इसे बारीक - बारीक काटकर ऊपर से डाल सकते हैं । इसके अलावा कच्चे टमाटर का सेवन भेलपूरी , चना जोर गरम आदि में डालकर भी कर सकते हैं ।

Read Also:  Tips for healthy living- स्वस्थ रहने के स्वर्णिम सूत्र

कच्चा पालक खाने के फायदे

पालक 

आयरन की कमी होने पर डॉक्टर पालक की सब्ज़ी खाने की सलाह देते हैं । 100 ग्राम पालक में 91 प्रतिशत पानी और 3 ग्राम तक प्रोटीन होता है । पालक में विटामिन सी , विटामिन - के , कैल्शियम , फाइबर और ओमेगा -3 भी पाया जाता है । जिन परिवारों में सी - फूड ( मांसाहारी भोजन ) नहीं खाया जाता है उनके लिए पालक का सेवन अत्यंत लाभकारी है । पालक को पकाकर खाने पर उसमें मौजूद प्राकृतिक जल नष्ट हो जाता है । ' 

पकाने के स्थान पर पालक को स्वच्छ पानी में उबालकर कच्चा खाएं या फिर हल्का - सा उबालकर या कच्चा ही दाल में बारीक काटकर डालें । इससे दाल का स्वाद बढ़ जाएगा व पालक की पौष्टिकता बनी रहेगी ।

Read Also:  स्वस्थ जीवन के तीन स्तम्भ: आहार ,निंद्रा और ब्रह्मचर्य

कुंदरू 

कुंदरू में मधुमेह को नियंत्रित करने के गुण पाए जाते .मोटापे की समस्या को दूर करने में लाभकारी होते हैं । जिस तरह खीरे को कच्चा ही खाते हैं , उसी तरह कुंदरू को भी सलाद के रूप में अपनी दिनचर्या में जोड़ सकते हैं । इसके अलावा पुदीना , शिमला मिर्च , अंकुरित अनाज आदि का भी सेवन कच्चे रूप में ही किया जा सकता है । इनका सलाद के रूप में सेवन कर रहे हैं तो ऊपर से नींबू , हरी मिर्च , हरा धनिया और प्याज मिला सकते हैं । 

स्वाटिष्ट कच्चा पनीर 

ग्रेवी , मसाला , तला हुआ पनीर सब्जी का स्वाद बढ़ाता है । अगर पनीर को ग्रेवी में तला हुआ न डालकर कच्चा ही डालते हैं तो उसमें मौजूद प्रोटीन पूरी मात्रा में मिलते हैं । कच्चे पनीर पर थोड़ा - सा काला नमक , काली मिर्च पाउडर व चाट मसाला डालकर भी खा सकते हैं । इससे स्वाद के साथ पोषण भी बरकरार रहता है । इसके अलावा किसी भी सूखी सब्जी के ऊपरं पनीर कीस कर डाल सकते हैं । 

Note: ध्यान रहे ... किसी तरह की स्वास्थ्य समस्या हो तो कच्चा भोजन करने से पहले डॉक्टर की सलाह अवश्य ले लें ।

खबरें और भी - 

  1. pregnancy mein गर्भवती महिला इन बातों का विशेषकर रखें ध्यान,बरते निम्न सावधानियाँ
  1. रक्तदान के फायदे,नुकसान,सावधानी ,रक्तदान कौन कर सकता है और कौन नहीं

 Thanks for visiting Khabar's daily update. For more लाइफस्टाइल, click here.

Rate this article

एक टिप्पणी भेजें