Subscribe to my Youtube Channel Click Here Subscribe Also !

health and nutrition for kids: बच्चों को बढ़ती उम्र के साथ दे नेचुरल फूड

हर कोई चाहता है कि उनका बच्चा स्वस्थ रहे, संतुलित आहार में Nature Nutrition ले खेले-कूदे और आगे बड़े। आज इस पोस्ट में हम बात करेंगे Good Nutrition for
Santosh Kukreti

Nutrition for Kids: हर कोई चाहता है कि उनका बच्चा स्वस्थ रहे, संतुलित आहार में Nature Nutrition ले खेले-कूदे और आगे बड़े। आज इस पोस्ट में हम बात करेंगे Good Nutrition for Kids जैसे विटामिन, मिनरल, कार्बोहाइड्रेट, प्रोटीन और फैट,जो पोषक तत्व कहलाते हैं। बच्चों को बढ़ते उम्र साथ में अलग-अलग मात्रा में विशिष्ट पोषक तत्वों की आवश्यकता होती है।  चलिए जानते है - For Good Health and Nutrition for Kids- बच्चों को बढ़ती उम्र के साथ दे नेचुरल फूड

Nutrition for kids good nutrition for kids ,nutrition for kids articles,health and nutrition for kids: बच्चों को बढ़ती उम्र के साथ दे नेचुरल फूड

बच्चों को बढ़ती उम्र के साथ दे नेचुरल फूड

बाजार की स्वास्थ्यवर्धक खाद्य वस्तुएं बच्चों को बहुत प्रिय होती हैं , लेकिन बढ़ती उम्र में Natural Food यानी प्राकृतिक खाद्य पदार्थ उनके लिए सबसे बेहतर होते हैं ?

बच्चों के शारीरिक विकास में पोषण का क्या महत्व है , यह बताने की जरूरत नहीं है । पोषण की आवश्यकता प्रत्येक बच्चे के लिए अलग - अलग होती है । बच्चों की शारीरिक लंबाई और वजन उनके शारीरिक विकास को दर्शाता है । बढ़ती अवस्था में पोषण में कमी होने से बच्चों में शारीरिक और मानसिक विकास में रुकावट देखी जाती है , जो उनकी रोग - प्रतिरोधक क्षमता पर प्रभाव डालती है ।

Read Also: कैसे पाएं मनचाही संतान? Manchahi santan kaise paye 

एक स्वस्थ और सक्रिय जीवन - शैली रखने के लिए बच्चों को संतुलित आहार देना बहुत आवश्यक है , ताकि बढ़ती उम्र में उन्हें पर्याप्त ऊर्जा , प्रोटीन , विटामिन्स और खनिज तत्व भरपूर मात्रा में मिल सकें । 

आजकल बाजार में विभिन्न प्रकार के डिब्बाबंद खाद्य पदार्थ , पेय और पाउडर मिलते हैं , जो प्राकृतिक खाद्य पदार्थों की जगह हर घर में उपयोग किए जा रहे हैं । ऐसे Processed Foods यानी प्रसंस्कृत खाद्य पदार्थों को विज्ञापनों के द्वारा बच्चों के शारीरिक और मानसिक विकास में सहायक पोषक तत्वों से भरपूर दिखाकर आवश्यक बताया जाता है ।

वास्तव में ऐसे प्रसंस्कृत खाद्य पदार्थों पेय और पाउडर में अधिक मात्रा में कार्बोहाइड्रेट , शर्करा , नमक , अनसैचुरेटेड फैट यानी असंतृप्त वसा और कई प्रकार के परीक्षण होने के कारण बच्चे मोटापा , मधुमेह , अस्थमा , थायरॉइड और मेटाबॉलिक सिंड्रोम जैसी कई समस्याओं का सामना करते हैं । 

बाजार की स्वास्थ्यवर्धक खाद्य वस्तुओं में अधिकतम कैलोरी होने के कारण बच्चों को पर्याप्त मात्रा में महत्वपूर्ण पोषक तत्व नहीं मिल पाते हैं , जो कई प्रकार के मेटाबॉलिक और हार्मोनल असंतुलन का कारण बनते हैं । अधिकतम शुगर का सेवन शरीर में कैल्शियम और विटामिन डी के अवशोषण को रोक देता है , जिससे बच्चों की हड्डियों के विकास पर बुरा प्रभाव पड़ता है । 

Read Also: happiness: दुनिया के तमाम मुश्किलों का एक हल आपकी हंसी

बेहतर है कि बाजार के Healthy Foods की जगह बच्चों के स्वस्थ विकास के लिए उनके संतुलित आहार में प्राकृतिक खाद्य पदार्थों को शामिल करें । 

दाल - चावल का संयोजन :  बच्चो को पोषक तत्वों से भरा भोजन खिलायें ,दाल - रोटी , चना , बाजरा , ज्वार आदि मौलिक आहार से बच्चों को प्रोटीन की पूरी मात्रा मिलती है । इसके अलावा ये प्राकृतिक खाद्य पदार्थ कार्बोहाइड्रेट , फाइबर आहार और कई मिनरल्स के भी प्रमुख स्रोत हैं । 

घर की इडली , डोसा , ढोकला: घर की रसोई में बने इडली , डोसा , ढोकला जैसे फर्मेटेड फूड यानी किण्वित खाद्य पदार्थ कई गुना सेहतमंद और अत्यधिक पौष्टिक होते हैं , जो बच्चों की आंतों की सेहत और पाचन में मदद करते हैं । 

कैल्शियम के प्रमुख स्रोत : दूध , दही , घी , पनीर , छाछ आदि डेयरी उत्पाद कैल्शियम के प्रमुख स्रोत हैं , जो हड्डियों के विकास में सहायक होते हैं । 

मानसिक विकास के लिए : डीएचए , ईपीए और ओमेगा -3 जैसे पोषक तत्व नट्स , सीड्स , मछली और अंडे में भरपूर मात्रा में पाए जाते हैं । ये बच्चों के मानसिक विकास में सहायता करने वाले महत्वपूर्ण पोषक तत्व होते हैं ।

विटामिन्स - मिनरल्स का खजाना 

ताजे फल और सब्जियां विटामिन्स और मिनरल्स का खजाना कही जाती हैं । बेहतर है कि बढ़ती उम्र में बच्चों के शारीरिक और मानसिक विकास तथा स्वस्थ जीवन - शैली के लिए प्राकृतिक खाद्य पदार्थों का सेवन कराएं । इनके पोषक तत्वों का शरीर में अवशोषण बाजार के खाद्य पदार्थों की तुलना में कई गुना अधिक होता है । इससे बच्चे के विकास के लिए सभी पोषक तत्व पर्याप्त मात्रा में मिल जाते हैं । 

Read Also: 

Healthy living routine: स्वस्थ जीवन का आधार व्यवस्थित दिनचर्या

Child Future: बच्चो को रूचि के अनुसार कॅरिअर चुनने का अवसर दें

Thanks for Visiting Khabar Daily Update.

Getting Info...

एक टिप्पणी भेजें

Cookie Consent
We serve cookies on this site to analyze traffic, remember your preferences, and optimize your experience.
Oops!
It seems there is something wrong with your internet connection. Please connect to the internet and start browsing again.
AdBlock Detected!
We have detected that you are using adblocking plugin in your browser.
The revenue we earn by the advertisements is used to manage this website, we request you to whitelist our website in your adblocking plugin.
Site is Blocked
Sorry! This site is not available in your country.