Walking Benefits: रोजाना 10 हजार कदम हमें क्यों चलना चाहिए | Walking 7 बड़े फायदे

Benefits of Walking: वॉकिंग सबसे सामान्य पर यह सबसे ज्यादा असरदार साबित होता है। Walking ,रोजाना 10 हजार कदम हमें क्यों चलना चाहिए ?और वर्कआउट 7 बड़े

Benefits of Walking:  वॉकिंग सबसे सामान्य पर यह सबसे ज्यादा असरदार साबित होता है। Walking ,रोजाना 10 हजार कदम हमें क्यों चलना चाहिए ?और वर्कआउट 7 बड़े फायदे क्या है आइये जानते है - स्वस्थ रहने के लिए प्रतिदिन 10,000 कदम चलना लोगों के बीच एक प्रचलित टास्क बन गया है , लेकिन 10,000 कदम ही क्यों । विभिन्न शोधों में पाया गया कि व्यक्ति यदि प्रतिदिन औसत 10 हजार कदम चलता है तो Workout से  ये 7 बड़े फायदे शरीर को होते हैं । जानिए क्या हैं ये फायदे ?

Walking Benefits: रोजाना 10 हजार कदम हमें क्यों चलना चाहिए  | Walking 7 बड़े फायदे

Read Also:- weight loss करना चाहते हो तो करो ये चार एक्सरसाइज

पैदल चलना हमारे स्वाथ्य के लिए बहुत ही आवश्यक यह एक तरह का व्यायाम या वर्कआउट है जिससे हमारे शरीर की अतिरिक्त चर्बी से छुटकारा मितला है, परन्तु सबसे अहम् सवाल यह है कि रोजाना कितना कदम चले ?

अगर आप वज़न घटाना(weight loss ) चाहते हैं, तो आपको  कुछ नियम अपनाने होंगे। सबसे इम्पोर्टेन्ट है कि इसमें निरंतरतता होनी चाहिए। आप को एक दिन में कम से कम 10 हजार कदम तो चलना चाहिए 

Read Also:- घर पर weight loss कैसे करें, घर से बाहर निकले बिना फैट बर्न, weight loss tips, diet plan,फूड्स और एक्सरसाइज

आज कल हर किसी के पास स्मार्टफोन है जिसके द्वारा आपको बहुत सारे पैडोमीटर (एक एप्लीकेशन जो क़दमों का हिसाब रखता है )आप कितना चले उसकी जानकारी आपको देता है जिससे आपको मोटिवेशन मिलता है जानते है   रोजाना 10 हजार कदम हमें क्यों चलना चाहिए ? 

Read Also:- वजन घटाने ( मोटापा कम ) के घरेलू नुस्खे | Home remedies for weight loss

Why should we walk 10,000 steps daily?

अमेरिका के नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ हेल्थ और सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन के वैज्ञानिकों ने लगभग 5000 महिला और पुरुषों के डेटा का विश्लेषण कर पाया कि यदि व्यक्ति प्रतिदिन 8000 कदम चले तो कैंसर , डायबिटीज और हृदय रोगों से होने वाली मौत का खतरा 50 प्रतिशत तक कम होता है । 

वहीं यदि 12,000 कदम प्रतिदिन चला जाए तो यह खतरा 65 प्रतिशत तक कम हो जाता है । फिर भले ही ये कदम किसी ब्लॉक के चक्कर लगाकर पूरे किए गए हों या फिर घर के कमरों में ।

एक दिन में कितना चलना चाहिये?,Weight कम करने के लिए कितना चलना चाहिए?

7 Big Benefits of Walking an Average of 10 Thousand Steps Per Day

रेगुलर वॉकिंग से दिल को खतरा 19 % कम होता है 

नेशनल लाइब्रेरी ऑफ मेडिसिन में प्रकाशित शोध के अनुसार नियमित पैदल चलने से रक्त में ऑक्सीजन की मात्रा बढ़ती है , जिससे हार्ट अटैक का खतरा 19 प्रतिशत तक कम होता है । इतना ही नहीं स्ट्रोक का खतरा एक तिहाई तक कम हो जाता है । 

दिमाग 60 फीसदी ज्यादा रचनात्मक हो जाता है

जर्नल ऑफ एक्सपेरीमेंटल साइकोलॉजी , लर्निंग , मेमोरी एंड कॉन्गनीशन के शोध के अनुसार पैदल चलने से मस्तिष्क में रक्त प्रवाह बढ़ता है , जिससे मस्तिष्क की सामंजस्य बैठाने की क्षमता बेहतर होती है । इससे व्यक्ति की क्रिएटीविटी 60 % तक बढ़ सकती है ।

इम्यूनिटी : शरीर को बीमारी का खतरा 26 % घट जाता है 

ब्रिटिश जर्नल ऑफ स्पोर्ट्स मेडिसिन के अनुसार सप्ताह में यदि 5 दिन भी टहला जाए तो बीमारी का खतरा 26 प्रतिशत तक कम हो जाता है । इतना ही नहीं , यह हड्डियों की डेंसिटी को बढ़ाता है । जिससे वे मजबूत बनती हैं ।

डायबिटीज का खतरा 60 % कम , ग्लूकोज लेवल कंट्रोल

अमेरिकन डायबिटीज एसोसिएशन के अनुसार टहलने जैसी शारीरिक गतिविधि से मांसपेशियां ब्लड स्ट्रीम में उपलब्ध ग्लूकोज का अधिक उपयोग करती हैं । शरीर में उपलब्ध इंसुलिन को भी प्रभावी तरीके से काम करने में मदद मिलती है , डायबिटीज का खतरा 60 फीसदी तक कम होता है । . 

 ब्लडप्रेशर 4 प्वाइंट तक कम किया जा सकता है 

अमेरिकन डायबिटीज एसोसिएशन द्वारा प्रकाशित एक अन्य रिसर्च पेपर के अनुसार प्रतिदिन टहलने से शरीर मे मांसपेशियों की जकड़न कम होती है , इससे रक्त को प्रवाहित होने में आसानी होती है । शरीर का अनियमित ब्लड प्रेशर करीब चार प्वाइंट तक कम हो जाता है । . 

कैंसर और मोटापे का खतरा 40 से 50 % तक कम होता है 

वेब एमडी के अनुसार 10 हजार लोगों पर किए शोध में पाया गया कि टहलने से कैंसर का खतरा 40 से 50 % तक कम होता है । जर्नल साइंस डायरेक्ट का शोध बताता है कि प्रतिदिन 1 घंटा वॉक की जाए तो मोटापे की आशंका 50 % कम हो जाती है ।

अवसाद का खतरा 26 % तक कम हो जाता है 

यूएस नेशनल लाइब्रेरी ऑफ मेडिसिन में प्रकाशित शोध के अनुसार पैदल चलने से शरीर इंडॉर्फिन और डोपामाइन जैसे न्यूरोट्रांसमीटर्स रिलीज करता है । इससे व्यक्ति का मूड बेहतर होता है । अवसाद का खतरा 20 फीसदी तक कम होता है ।

Read More:- 

एक्सरसाइज़ करते हुए म्यूजिक सुनने से दूर होती है मानसिक थकान

प्राणायाम क्या है ? प्राणायाम के प्रकार,लाभ,सावधानियां प्राणायाम करने का सही समय

Fitness Mistakes: एक्सरसाइज करने में ना करें ये गलतियां

Thanks for Visiting Khabar daily update. For More Topics click here.


Rate this article

एक टिप्पणी भेजें