आशीष विद्यार्थी मोटिवेशनल स्पीकर-उम्मीदों की खिड़कियां हमेशा खुली रखें-

0

Ashish Vidyarthi |Motivational Speakers |Always keep the windows of hope open

यूट्यूब-  Ashish Vidyarthi Actor Vlog
फेसबुक- ashishvidyarthiandassociates
वेबसाइट- www.avidmier.com

आशीष विद्यार्थी Motivation speakers:-उम्मीदों की खिड़कियां हमेशा खुली रखें. 

Ashish Vidyarthi, motivational speaker,  Always keep the windows of hope open

हर रोज अपने लिए वोट करिए- वोट फॉर योरसेल्फ ! अपनी खुशी , अपने अस्तित्व के लिए वोट करिए । उन लोगों की चिंता मत करिए , जिन्होंने आपसे अपना समर्थन वापस ले लिया है । मैं रोज खुद के फेवर में वोट देता हूं कि मैं एक और दिन खुद के लिए , खुद की खुशी के लिए जीउंगा । जिंदगी के ' चुनाव ' में किसी और के वोट की जरूरत नहीं !

आशीष विद्यार्थी कभी ' यूं ही ' कुछ करें | Ashish Vidyarthi motivational speech in Hindi

खुद पर यकीन करना होगा कि आप हैं । कोई आपकी उपस्थिति को स्वीकारे या न स्वीकारे , लेकिन आप हैं । और तब आप डिस्कवर करते हैं कि ये दुनिया वाकई बहुत बड़ी है - आशीष विद्यार्थी मोटिवेशनल स्पीकर

मैं जिंदा हूं । आप भी जिंदा हैं । ये पढ़कर आपको थोड़ा अटपटा लगेगा कि जीवित तो हम सभी हैं , इसमें कौन सी नई बात है ? पर मेरी जिंदगी में एक ऐसा मौका आया , जब लगा कि इसका मकसद नहीं रह गया है । जिंदा रहने की वजह चली गई है । मैंने खुद को हारा हुआ महसूस किया । मुझे लगता है कि हम सबकी जिंदगी में कभी न कभी ऐसे मौके आते हैं , जब लगता है कि सबकुछ खत्म है । 

रॉबिन शर्मा Best inspirational motivational thoughts speech | रॉबिन शर्मा अनमोल Quote विचार

जिंदगी अनुभवों से सीखने का भी नाम है । मैंने जब बॉलीवुड में काम शुरू किया , तो एक समय के बाद एक ही तरह के रोल मिलने लगे थे । मैं अभिनेता बनने निकला था , लेकिन खुद का कैरिकेचर बन गया था । मैं कुछ नया करना चाहता था , लेकिन पुराने तरीके को बार - बार दोहराने के लिए मुझे हायर किया जा रहा था । मेरे सामने मौका था कि मैं वही - वही करते हुए पैसे कमाता रहूं और खुश रहूं । तब मैंने अपनी जिंदगी में कुछ कठोर निर्णय लिए । और अपने नए आयाम ढूंढने के लिए 1999 में दक्षिण भारतीय सिनेमा का रुख किया । 

बॉलीवुड में पहचान बनाने और सम्मान मिलने के बाद साउथ इंडिया के सिनेमा में नए सिरे से जगह बनानी थी । कुछ सालों बाद वहां भी अलग पहचान बन गई । पर कुछ खास रोल अभी भी दूर थे । फिर अपने पुराने साथियों को अप्रोच किया । जब लोगों को फोन किया , तो वे फोन तक नहीं उठाते थे । तब लगा कि इससे मुश्किल दौर क्या होगा । वो मायूसी का दौर था । मायूसी हम सबकी जिंदगी में आती है । 

मैंने तब एक चीज तय कर ली थी कि अपनी जिंदगी को अपने तरीके से जीउंगा । इसी जिंदगी में जूझकर आगे बढ़ंगा । जब आप खुद को हारा हुआ महसूस कर रहे हैं , जब सारी दुनिया आपको इस तरह से ट्रीट कर रही है कि आप दुनिया के लिए मायने नहीं रखते हैं । उसी समय आपको खुद पर यकीन करना है । खुद पर यकीन करना होगा कि आप हैं । कोई आपकी उपस्थिति को स्वीकारे- न स्वीकारे , लेकिन आप हैं । और तब आप डिस्कवर करते हैं कि ये दुनिया बहुत बड़ी है । 

दुनिया में बहुत सारी जगहें हैं , बहुत सारी संभावनाएं हैं , बहुत सारे लोग हैं जो आपके साथ काम करने के लिए तैयार हैं । मैंने पाया कि नए तरह के रचनात्मक लोग मुझे मौका देने का तैयार थे । 

Ronnie Screwvala: बड़े सपने देखिए और आंखें खुली रखिए

आज मैं आपसे कह सकता हूं कि आज मैं विविधता भरा मन का काम कर रहा हूं । जिंदगी में कभी - कभी आपको उम्मीदों के दरवाजे - खिड़कियां बंद दिखते हैं , पर यकीन रखिए , ना जाने कितने ऐसे कितने खिड़की - दरवाजे मौजूद होते हैं , लेकिन उन्हें खोलने के लिए आपका जिंदा रहना जरूरी है । 

मुझे दुत्कारा जा चुका है । अपमानित किया जा चुका है , पर मैं हारा नहीं । दुखी होकर ऐसा न सोचें कि जिंदगी बुरी है । यहां तक कि लोग भी बुरे नहीं हैं । उनकी अपनी जरूरतें हैं , सोच है । हो सकता है कि उनकी मजबूरियां रहीं होंगी । अगर आप जिंदा हैं , तो जरूरी है कि खुद पर विश्वास रखें । आपको दुनिया से इजाजत लेने की जरूरत नहीं है कि क्या मैं खुश रह सकता हूं । क्या मैं जिंदा रहने का हकदार हूं इसके लिए आपको दुनिया से परमिशन लेने की जरूरत नहीं है । वो आपका अपना हक है । 

हर रोज अपने लिए वोट करिए वोट फॉर योरसेल्फ ! अपनी खुशी , अपने अस्तित्व के लिए वोट करिए । उन लोगों की चिंता मत . करिए , जिन्होंने आपसे अपना समर्थन वापस ले लिया है । मैं रोज खुद के फेवर में वोट देता हूं कि मैं एक और दिन खुद के लिए , खुद की खुशी के लिए जियूंगा । जिंदगी के ' चुनाव ' में किसी और के वोट की जरूरत नहीं ! 





एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.
एक टिप्पणी भेजें (0)

#buttons=(Accepted !)#days=(20)

Our website uses cookies to enhance your experience. Learn More
Accept !
To Top